• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Korba
  • तय दूरी व समय से अधिक चलने से रोजाना ब्रेक डाउन
--Advertisement--

तय दूरी व समय से अधिक चलने से रोजाना ब्रेक डाउन

स्वास्थ्य विभाग के आपातकालीन सेवा 108 के तहत जिले में संजीवनी एक्सप्रेस के तौर पर चल रहे एंबुलेंस खस्ताहाल हो गए है।...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 03:05 AM IST
तय दूरी व समय से अधिक चलने से रोजाना ब्रेक डाउन
स्वास्थ्य विभाग के आपातकालीन सेवा 108 के तहत जिले में संजीवनी एक्सप्रेस के तौर पर चल रहे एंबुलेंस खस्ताहाल हो गए है। पाली हेल्थ सेंटर में तैनात एंबुलेंस जहां जलकर कंडम हो गई है। वहीं अधिकांश एंबुलेंस ब्रेक डाऊन हो रहे हैं।

इसकी वजह संजीवनी एक्सप्रेस के सभी एंबुलेंस निर्धारित दूरी व समय से ज्यादा चल गए है। इस कारण से एंबुलेंस में कोई न कोई खराबी आ रही है। यहां तक की मरीजों को अस्पताल पहुंचाते समय रास्ते में ही खड़ी हो जाती है। इसलिए सड़क पर अक्सर संजीवनी एक्सप्रेस का एक एंबुलेंस दूसरे को टोचन करते (खींचते) नजर आ जाते हैं। वहीं दूसरी ओर एंबुलेंस में खराबी आने के कारण अक्सर लोगों को इमरजेंसी में संजीवनी एक्सप्रेस की मदद नहीं मिलती है।

इमरजेंसी सर्विस हो रही बदहाल, नए एंबुलेंस मंजूर नहीं, मरम्मत करवाकर चला रहे काम

जलकर कंडम हुई एंबुलेंस, दूसरी नहीं मिली

पाली स्वास्थ्य केंद्र में नवंबर में शार्ट-सर्किट की वजह से वहां संजीवनी एक्सप्रेस की एंबुलेंस जलकर कंडम हो गई। लेकिन ढाई माह बाद भी उक्त एंबुलेंस की जगह नई या दूसरी एंबुलेंस नहीं मिली है। जिस कारण पाली में अब संजीवनी एक्सप्रेस की सुविधा नहीं मिलती है। जरूरत के समय उपलब्ध होने पर कटघोरा से एंबुलेंस मदद के लिए पहुंचता है। जिसमें ज्यादा समय लग जाता है।

10 में 8 संजीवनी एंबुलेंस है खराब: जिले में चल रही संजीवनी एक्सप्रेस की 11 एंबुलेंस में 1 एंबुलेंस पाली में आग लगने से कंडम हो गई है। बचे 10 एंबुलेंस में 8 एंबुलेंस खराब हो चुके हैं। जो अक्सर बिगड़ जाते हैं। जिले से 4-5 नई एंबुलेंस की मांग की गई है लेकिन अब तक नई एंबुलेंस नहीं उपलब्ध कराई गई है। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक बजट के दौरान नई एंबुलेंस स्वीकृत हो सकती है।

पुराने एंबुलेंस से सेवा देने प्रयासरत

संजीवनी व महतारी एक्सप्रेस के स्थानीय इंचार्ज मिथलेश चौहान ने बताया कि जिले में संजीवनी एक्सप्रेस की 90 फीसदी एंबुलेंस निर्धारित दूरी व अवधि पूरी कर चुकी है। इसलिए आए दिन एंबलेंस में खराबी आ रही है। मेंटेनेंस करवाकर लोगों को बेहतर सेवा के लिए प्रयासरत है। नई एंबुलेंस की डिमांड की गई है। स्वीकृति का इंतजार है।

X
तय दूरी व समय से अधिक चलने से रोजाना ब्रेक डाउन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..