• Home
  • Chhattisgarh News
  • Korba News
  • 10 महीने में 86 करोड़ 50 लाख की शराब बिक्री, विभाग को सिर्फ आय से है मतलब
--Advertisement--

10 महीने में 86 करोड़ 50 लाख की शराब बिक्री, विभाग को सिर्फ आय से है मतलब

आबकारी विभाग को इस साल 115 करोड़ आय प्राप्त करने का लक्ष्य मिला है। इसके मुकाबले अब तक 86.50 करोड़ का राजस्व हासिल की गई है।...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:05 AM IST
आबकारी विभाग को इस साल 115 करोड़ आय प्राप्त करने का लक्ष्य मिला है। इसके मुकाबले अब तक 86.50 करोड़ का राजस्व हासिल की गई है। मार्च में वित्तीय वर्ष समाप्त होगा, ऐसे में 60 दिन ही शेष रह गए हंै। इस अवधि में 29.50 करोड़ का राजस्व शराब बेचकर जुटाना होगा।

आबकारी विभाग की चिंता शराब के अवैध कारोबार अथवा कच्ची शराब को रोकने की बजाय सरकारी झोली भरने में है। शासन ने पहली बार स्वयं के शराब दुकान संचालित करने का निर्णय लिया है। ऐसे में अधिकारी भी बेहतर परपᆬॉरमेंस देने के लिए राजस्व आय लक्ष्य को पूरा करने में लगे हुए हैं। जिल में 38 दुकानों का संचालन हो रहा है। इसमें 20 देसी व 18 अंग्रेजी शराब दुकान शामिल हैं। इन दुकानों के आसपास चखना दुकान की आड़ में देर रात तक शराब की बिक्री की जाती है। सीमित जगहों में सरकारी शराब की दुकान होने से अवैध बिक्री करने अलग-अलग समय में शराब की खरीदी करते हैं, जिसे गुमटी, ठेले अथवा ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित दुकानों में सप्लाई की जाती है। इसी तरह कच्ची शराब बनाने वाले भी सरकारी शराब की बिक्री कर रहे हैं। आबकारी विभाग को केवल राजस्व आय से ही वास्ता रह गया है। ऐसे में कार्रवाई को नजरअंदाज किया जा रहा है। शराब दुकान संचालन में पुलिस विभाग का सकारात्मक सहयोग नहीं होने से अवैध कारोबार से जुड़े लोगों को शह मिल रहा है।

होली की बिक्री पर टिकी नजर: दो माह के भीतर लगभग 30 करोड़ की राजस्व आय आबकारी विभाग को प्राप्त करना होगा। मार्च में होने वाली बिक्री पर विभाग की नजर टिकी है। नववर्ष की पूर्व संध्या में जिले में 98 लाख की शराब बिक्री हुई थी। इस आशय से अनुमान लगाया जा रहा है कि 1.50 करोड़ की बिक्री होगी। प्रतिदिन 40 से 45 लाख के शराब की बिक्री होती है। इस आशय से अनुमान लगाया जा रहा है कि वित्तीय वर्ष के अंत तक शराब से राजस्व आय को प्राप्त कर लिया जाएगा। होली में ऊंची कमाई करने बिचौलिए अभी से सक्रिय हो गए हैं। जिला आबकारी अधिकारी मंजूश्री कसेर ने बताया कि वित्तीय वर्ष में आबकारी विभाग को 115 करोड़ का राजस्व आय लक्ष्य मिला है।