• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Korba
  • Korba News chhattisgarh news administration preparing to run 200 heavy vehicles going to balaka by chakabuda jawali bypass

बालको जाने वाले 2 सौ भारी वाहनों को चाकाबुड़ा जवाली बायपास से चलाने तैयारी कर रहा प्रशासन

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:15 AM IST

Korba News - भास्कर संवाददाता| कोरबा/गेवरा दीपका शहर में लगातार भारी वाहनों का दबाव बढ़ता जा रहा है। बुधवार को कलेक्टर किरण...

Korba News - chhattisgarh news administration preparing to run 200 heavy vehicles going to balaka by chakabuda jawali bypass
भास्कर संवाददाता| कोरबा/गेवरा दीपका

शहर में लगातार भारी वाहनों का दबाव बढ़ता जा रहा है। बुधवार को कलेक्टर किरण कौशल व एसपी जितेन्द्र मीणा ने कुसमुंडा, गेवरा व दीपका खदानों का निरीक्षण कर कोयला परिवहन की जानकारी ली।

तहसीलदार रोहित ठाकुर ने कलेक्टर को बताया कि कुसमुंडा खदान के बैरियर नंबर एक से बालको पावर प्लांट के लिए कोयला ले जाने वाली लगभग 200 ट्रेलर कनबेरी सड़क का उपयोग कर सर्वमंगला चौक होते हुए बालको तक पहुंचती हैं। इस पर कलेक्टर कौशल ने बालको पावर प्लांट के लिए कुसमुंडा खदान से निकलने वाली सभी गाड़ियों को दीपका होते हुए चाकाबुड़ा-जवाली-ढेलवाडीह बाइपास से कोरबा की तरफ मोड़ने की संभावनाओं पर विचार करने कहा। गेवरा खदान का निरीक्षण करने के बाद कलेक्टर ने यह भी सुझाव रखा कि गेवरा खदान से निकलने वाली बालको की कोयला वाली गाड़ियों को भी इसी रूट पर डायवर्ट किया जा सकता है। जिससे कनबेरी रूट पर प्रतिदिन लगभग एक हजार गाड़ियों का दबाव कम हो सकता है। कलेक्टर ने कनबेरी रोड पर रोज चलने वाली लगभग 900 गाड़ियों में से कुछ गाड़ियों को वैकल्पिक सड़कों से चलाने का सुझाव एसईसीएल के अधिकारियों के बीच रखा। कलेक्टर कौशल व एसपी मीणा ने कुसमुंडा के बैरियर क्रमांक एक और चार से खदान के अंदर प्रवेश किया।

कनबेरी रोड का उपयोग करने वाले ट्रांसपोर्टर इन दोनों बैरियर का उपयोग कुसमुंडा खदान से कोल परिवहन के लिए करते हैं। एसईसीएल के अधिकारियों ने बताया कुसमुंडा खदान के बैरियर नंबर एक से रोज लगभग 370 वाहन और बैरियर क्रमांक 4 से लगभग 350 गाड़ियां कोल परिवहन का कार्य करती हैं। अधिकारियों ने यह भी बताया कि सरगुजा, बिलासपुर एवं रायपुर की ओर जाने वाली प्रतिदिन लगभग 340 गाड़ियां गेट नंबर तीन से कोल परिवहन करती हैं। बैरियर नंबर पांच से हरदीबाजार की ओर जाने वाली गाड़ियों का आवागमन होता है जो संख्या में रोज 350 के आसपास हैं।

प्रशासनिक व एसईसीएल के अफसरों के बीच कई मुद्दों पर हुई चर्चा

वाहनों के रूट की कलेक्टर को जानकारी देते एसईसीएल अधिकारी।

टोकन पद्धति का कड़ाई से पालन करने के निर्देश

कलेक्टर कौशल ने एसईसीएल के अफसरों और ट्रांसपोर्टरों को खदान के भीतर कोयला लदान के लिए गाडियां भेजने में लागू टोकन पद्धति का कड़ाई से पालन करने कहा है। अफसरों ने कलेक्टर को बताया कि भुट्टा चौक के पास कुसमुंडा माइंस के लक्ष्मण प्रोजेक्ट यार्ड पर हर दिन 700 से 800 खाली गाड़ियां खड़ी होती हैं। इस यार्ड में खड़ी होने वाली सभी गाड़ियां टोकन सिस्टम के आधार पर कुसमुंडा खदान में बैरियर नंबर एक, तीन व पांच से प्रवेश करती हैं। लेकिन पहले आओ, पहले पाओ का टोकन प्राप्त करने की नीति का पालन ठीक से नहीं हो पा रहा है, इसलिए मुख्य मार्गों पर भारी वाहनों का दबाव बढ़ जाता है।

सर्वमंगला मंदिर के पास नहर पर अतिरिक्त पुल बनाने की मांग

सर्वमंगला मंदिर से कनबेरी मार्ग के निरीक्षण के दौरान एसईसीएल के अधिकारियों ने सड़क के किनारे की नहर पर एक अतिरिक्त पुल बनाने की मांग की। एसईसीएल के अधिकारियों का मत था कि वर्तमान में बैरियर नंबर एक व चार से प्रवेश तथा निकासी करने वाली सभी गाड़ियों को एक ही पुल का उपयोग करना पड़ता है। जिसके कारण कई बार कनबेरी मार्ग पर वाहनों का दबाव बढ़ जाता है। अधिकारियों का मत था कि नहर पर एक अतिरिक्त पुल बन जाने से कुसमुंडा खदान के बैरियर नंबर चार से निकलने वाले वाहन रायगढ़ की तरफ सीधे निकल जायेंगे और सर्वमंगला मंदिर के पास वाहनों का दबाव कम होगा। कलेक्टर ने अधिकारियों की इस मांग पर विचार के लिए आगामी दिनों में बैठक कर निर्णय लेने की बात कही।

X
Korba News - chhattisgarh news administration preparing to run 200 heavy vehicles going to balaka by chakabuda jawali bypass
COMMENT