दादी बोली-मारना था तो मुझे मार देते, मासूमों को क्यों मारा...उन्होंने भला किसी का क्या बिगाड़ा था

Korba News - ढोढ़ीपारा-भैसखटाल में कुआं में दो मासूम बच्चों का शव मिलने के बाद बस्ती में शोक की लहर है। शनिवार की शाम मृत बच्चों...

Jul 14, 2019, 07:10 AM IST
ढोढ़ीपारा-भैसखटाल में कुआं में दो मासूम बच्चों का शव मिलने के बाद बस्ती में शोक की लहर है। शनिवार की शाम मृत बच्चों में एक नेहा की दादी कलावती बार-बार घर से बाहर आकर अपनी बूढ़ी आंखों से गली में उसे खोज रही थी।

फिर पोती को खोने की सुध आते ही रोने बैठ जा रही थी। उसे पड़ोस की महिलाएं सांत्वना दे रहीं थी। इस दौरान कलावती बार-बार कहती रही कि किसी को गुस्सा था तो हमको मार डालता, मासूम बच्चों को क्यों मारा...उन्होंने किसी का क्या बिगाड़ा था। कलावती ने कहा दोनों बच्चे स्कूल से आने के बाद खेलते हुए बार-बार उसे दादी-दादी पुकारते थे, दिनभर वे उनकी नजर के सामने रहते थे। लेकिन शुक्रवार की शाम अंधेरा होने पर वह अपने कमरे में थी। इसी दौरान बच्चे हमेशा के लिए उनकी नजरों से ओझल हो गए। नेहा के बड़े पिता जयप्रकाश ने बताया बच्चे अकेले कभी घर से दूर नहीं गए। कोई उन्हें लेकर कुआं तक गया होगा। दोनों बच्चों के परिजन के साथ पड़ोसी भी मामले में हत्या का संदेह जता रहे हैं। सीएसईबी चौकी पुलिस मामले को संदिग्ध मान रही है।

जिस पर परिजन को संदेह वह फरार, सभी कह रहे हत्यारे को फांसी दो

इसलिए हत्या का संदेह








नेहा के पिता बोले- किराएदार के बेटे को मेरा बेटा समझकर मारा

मेरी बहन अंजन का प्रेम संबंध 3-4 साल से बालको के अनिल यादव नामक युवक से है। अनिल ड्राइवर है। दूसरे जाति का होने की वजह से शादी नहीं कर सकते थे इसलिए बहन को कई बार समझाया। कुछ दिन पहले अंजन और अनिल के बीच विवाद हुआ तो उसने बेल्ट से उसे मारा था। घर परिवार में जानकारी होने पर अंजन को अनिल से मिलने व बातचीत करने से मना किया गया। उसके बात नहीं करने पर अनिल मेरी प|ी प्रीति के मोबाइल पर कॉल करके बात कराने को कहता था। शुक्रवार को दिनभर में उसने 4 बार कॉल किया। बात नहीं कराने पर परिवार के लोगों व बच्चों के साथ ठीक नहीं होने की धमकी दी थी। इसके बाद उसे दिन में कई बार मोहल्ले में घूमते हुए देखा गया था। उसने ही हमारे परिवार से बदला लेने के लिए बच्चों की हत्या की है। शायद किराएदार के बेटे आकाश को मेरा ही छोटा बेटा समझकर उसने मार दिया। उसे फांसी की सजा होनी चाहिए।

नारायण चौहान।

परिजनों को हत्या का संदेह, जांच कर रहे

सीएसईबी चौकी प्रभारी जितेंद्र यादव ने बताया कि शाम से लापता बताए जा रहे दो बच्चों का शव 3 घंटे बाद बस्ती में स्थित कुआं में मिला। मामले में मृत बच्चों के परिजनों ने हत्या का संदेह जताया है। मामले में देवा चौहान की बहन अंजन के प्रेमी अनिल पर शक है। संदेही अनिल की पतासाजी करते हुए मामले में जांच-पड़ताल की जा रही है।

देवा चौहान।

नेहा की दादी कलावती

एक मकान मालिक, दूसरा किराएदार का परिवार

ढोढ़ीपारा-भैसखटाल में देवा चौहान का संयुक्त परिवार है। जिसमें उसकी मां कलावती (65) समेत उसका बड़ा भाई जयप्रकाश का परिवार, बहन अंजन, प|ी प्रीति व दो बच्चे पुत्री नेहा (7) व छोटा पुत्र कृष्णा (4) है। देवा मजदूरी करता है। उसके घर पर मूलत: टोंडा(उरगा) निवासी नारायण चौहान पिछले 3 साल से किराए पर अपनी प|ी व दो बच्चे पुत्री पुजा (16) व आकाश (6) के साथ रहते हुए मजदूरी करता है। इस घटना के बाद दोनों परिवार ने अपना एक-एक बच्चा खो दिया।

संदेही का लोकेशन तलाश रहे

सीएसईबी चौकी प्रभारी जितेंद्र यादव ने बताया कि मामले में जांच-पड़ताल की जा रही है। संदेही से पूछताछ के लिए खोजबीन करने पर वह नहीं मिला। उसकी तलाश कर रहे हैं। उसका मोबाइल नंबर हासिल करके घटना दिनांक के कॉल डिटेल व उसकी लोकेशन की जानकारी ली जा रही है।

बारीकी से की जा रही है जांच

सिटी कोतवाली टीआई दुर्गेश शर्मा ने बताया बच्चों के कुआं में डूबने व परिजन के हत्या का संदेह व्यक्त करने पर मामले में संवेदनशीलता के साथ हर पहलुओं पर बारीकी से जांच कर रहे हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना