• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Korba
  • Korba News chhattisgarh news korba district was formed from the sensitive examination centers in the board examination there was a duplicate case 2 years ago
विज्ञापन

कोरबा जिला संवेदनशील परीक्षा केंद्रों से हुआ दूर बोर्ड परीक्षा में 2 साल पहले 1 नकल केस बना था

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 02:50 AM IST

Korba News - लंबे समय से जिले के माथे पर नकल प्रकरण के कारण संवेदनशील की मुहर लगी हुई थी, जिसे दूर करने में शिक्षा विभाग 2 साल से...

Korba News - chhattisgarh news korba district was formed from the sensitive examination centers in the board examination there was a duplicate case 2 years ago
  • comment
लंबे समय से जिले के माथे पर नकल प्रकरण के कारण संवेदनशील की मुहर लगी हुई थी, जिसे दूर करने में शिक्षा विभाग 2 साल से सफल रहा है। परिणाम स्वरूप जिले में आयोजित होने वाली बोर्ड परीक्षा के लिए बनने वाले सभी केन्द्र सामान्य श्रेणी में आ गए हैं।

दो साल से परीक्षा केन्द्रों में कोई नकल प्रकरण नहीं बन रहा है। इसका फायदा परीक्षार्थियों को भी मिलने लगा है। संवेदनशील केन्द्रों में पुलिस बल व उड़नदस्ता टीम की मौजूदगी का भय छात्रों में होती थी जो अब इससे मुक्त हो चुके हैं। क्योंकि परीक्षार्थियों में भी नकल के प्रति रुचि नहीं रह गई है। परीक्षा शब्द से ही छात्र असहज होने लगते हैं। ऊपर से ऐसे केन्द्र जहां बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात हो, उड़नदस्ता टीम कभी भी छापा मारने पहुंचेगी ऐसी जानकारी होने पर परीक्षार्थियों के मन में परीक्षा को लेकर कभी दुविधा होती है। ऐसे माहौल में अच्छे -अच्छे छात्रों का मन भटकने लगता है और वे जानते हुए भी सवाल में उलझ जाते हैं। इस तनाव को कम करने के लिए लगातार शिक्षा विभाग नकल रोकने जुटा रहा। जिला मुख्यालय से दूर के परीक्षा केन्द्रों में अक्सर यह शिकायत मिलती थी नकल की। इस कारण प्रशासन ऐसे केन्द्रों को संवेदनशील व अतिसंवेदनशील की श्रेणी में रखते हुए परीक्षा के समय सख्त हो जाता था। केन्द्र में पुलिस बल तैनात कर दिए जाते थे और उड़नदस्ता टीम को हर दिन छापा मारने की हिदायत होती थी। दो साल से इस पर लगाम लग गया है। किसी भी परीक्षा केन्द्र में कोई नकल प्रकरण नहीं बन रहा है। इसलिए जिला प्रशासन जिले के कभी परीक्षा केन्द्रों को सामान्य श्रेणी में मान लिया है।

10 संवेदनशील व 3 अति संवेदनशील केन्द्र थे पहले

दो साल पहले हुई जिले में बोर्ड की परीक्षा के लिए बनाए जाने वाले परीक्षा केन्द्रों में 10 संवेदनशील तो 3 अतिसंवेदनशील की श्रेणी में थे। अतिसंवेदनशील परीक्षा केन्द्र में हर साल नकल के प्रकरण सर्वाधिक होते थे। विवादित केन्द्र माने जाते थे। लेकिन आसपास के स्कूलों के लिए सुविधाजनक होने के कारण वहां केन्द्र बनाना मजबूरी भी थी। हालांकि उस साल मात्र 1 नकल प्रकरण जिले में बना था। उसके बाद जिले में नहीं मिले प्रकरण। जिसके कारण जिला इससे मुक्त हो चुका है।

89 परीक्षा केन्द्रों में होगी बोर्ड परीक्षा

माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं व 12वीं बोर्ड की परीक्षा के लिए जिले में 89 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। बीते वर्ष 88 केन्द्र थे। एक केन्द्र बढ़ने से आसपास के स्कूलों के बच्चों को भी लाभ मिलेगा। क्योंकि उन्हें इस बार परीक्षा देने दूर के केन्द्र में नहीं जाना पड़ेगा। इस बार कुल 26 हजार 871 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे।

नकल रोकने 8 उड़नदस्ता टीम करेगी निगरानी

डीईओ सतीश कुमार पाण्डेय ने बताया कि जिले में इस बार भी बोर्ड परीक्षा के लिए एक भी केन्द्र को संवेदनशील अथवा अतिसंवेदनशील नहीं माना गया है। परीक्षा सुचारू संपन्न कराने के लिए जिला स्तर पर 8 उड़नदस्ता टीम गठित की हंै जो केन्द्रों पर नजर रखेगी। परीक्षार्थियों को केन्द्रों में बेहतर माहौल मिलेगा।

एक्सपर्ट व्यू

परीक्षार्थियों को तनावमुक्त माहौल मिलना चाहिए

गवर्नमेंट पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ.आरके सक्सेना ने बताया कि जिस तरह सीबीएसई की परीक्षाओं के लिए निर्धारित केन्द्रों में परीक्षार्थियों पर कोई दबाव नहीं होता उसी तरह सीजी बोर्ड में भी होना चाहिए। किसी भी परीक्षा केन्द्र में परीक्षार्थी पहुंचते हैं तो वहां सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस बल अथवा जिला प्रशासन से नियुक्त उड़नदस्ता टीम के औचक निरीक्षण करने की स्थिति में परीक्षार्थी बेवजह तनाव में आ जाते हंै। बेहतर रिजल्ट के लिए परीक्षा केन्द्रों में परीक्षार्थियों को ऐसा माहौल मिलना चाहिए जिससे वे पूरी तरह तनावमुक्त रहें।

X
Korba News - chhattisgarh news korba district was formed from the sensitive examination centers in the board examination there was a duplicate case 2 years ago
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन