Hindi News »Chhatisgarh »Korba» जनवरी 2017 से 20 लाख ग्रेच्युटी पर अगली मीटिंग में होगी चर्चा

जनवरी 2017 से 20 लाख ग्रेच्युटी पर अगली मीटिंग में होगी चर्चा

स्टैंडराइजेशन कमेटी की बैठक शुक्रवार को कोल इंडिया मुख्यालय कोलकाता में हुई। इससे पहले दो बार मीटिंग स्थगित हो...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 14, 2018, 02:50 AM IST

स्टैंडराइजेशन कमेटी की बैठक शुक्रवार को कोल इंडिया मुख्यालय कोलकाता में हुई। इससे पहले दो बार मीटिंग स्थगित हो चुकी थी, इसलिए इस बार की मीटिंग को लेकर कर्मियों की उत्सुकता बनी रही। स्टैंडराइजेशन कमेटी के पुनर्गठन के मुद्दे को लेकर एटक व सीटू ने बैठक से दूरी बनाए रखी। एचएमएस व बीएमएस के नेता बैठक में शामिल हुए। कोल इंडिया में भी 1 जनवरी 2017 से रिटायर होने वाले कर्मियों को 20 लाख रुपए ग्रेच्युटी भुगतान किए जाने की मांग प्रमुख मुद्दा रहा। इस पर यह सहमति बनी कि अगली बैठक में इस एजेंडे को शामिल किया जाएगा। इस पर गंभीरता से चर्चा होगी।

बैठक में कमेटी के चेयरमेन, प्रबंधन के अधिकारी के अलावा एचएमएस व बीएमएस नेता उपस्थित रहे। एचएमएस नेता नाथूलाल पाण्डेय ने कहा कि हमने मेडिकल अनफिट, खदान बंदी, संडे बंद या माइंस के रेस्ट डे की परंपरा मे बदलाव व आश्रितों की नौकरी बंद करने, ग्रेच्युटी तिथि जैसे मूलभूत मुद्दों को लेकर समझौते पर हस्ताक्षर नहीं किया था। इन्हीं मुद्दों पर स्टैंडराइजेशन कमेटी में फैसला होना चाहिए। जिस पर क्रमश: प्रबंधन की ओर से चर्चा की गई। बैठक में यह भी तय किया गया है कि एनसीडब्लूए-10 के कैटेगरी के बेसिक के बराबर देने, ओटी की सीलिंग 39555 रुपए तक रहेेगी। चार्ज एलाउंस का भुगतान सीलिंग पर नहीं होगा इस पर भी सहमति बनी है। इस मुद्दे पर भी बात हुई कि आश्रित नियोजन पर बनी कमेटी के निर्णय नहीं आने तक नौकरी देना बंद नहीं होगा। अंतिम निर्णय तक नौकरी दी जाएगी। इसके अलावा सीपीआरएमएस के तहत ट्रस्ट रजिस्ट्रेशन की जिम्मेदारी तय की गई है, इस पर भी सहमति बनी है कि बोर्ड आफ ट्रस्टी के लिए नाम मंगाया जाएगा। 31 दिसंबर 22017 की तिथि को आगे बढ़ाने पर भी सहमति बनी। इसी तरह 1 जुलाई 2016 से रिटायर कर्मचारी स्कीम के सदस्य (अनिवार्य) होंगे। उनका अंशदान बकाया एरियर्स से कटौती किया जाएगा। स्पेशल फीमेल वीआरएस पर निर्णय नहीं हो पाया है। इस पर भी अगली बैठक में चर्चा होगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Korba

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×