कोरबा

  • Home
  • Chhattisgarh News
  • Korba News
  • फुटहामुड़ा में कटहल, दोंदरो में केला खाकर दंतैल लौटा आमाडांड
--Advertisement--

फुटहामुड़ा में कटहल, दोंदरो में केला खाकर दंतैल लौटा आमाडांड

वन परिक्षेत्र बालको की ओर गया दंतैल हाथी शुक्रवार की सुबह भुलसीडीह होते हुए पुन: आमाडांड जंगल पहुंच गया है।...

Danik Bhaskar

Jul 14, 2018, 02:55 AM IST
वन परिक्षेत्र बालको की ओर गया दंतैल हाथी शुक्रवार की सुबह भुलसीडीह होते हुए पुन: आमाडांड जंगल पहुंच गया है। गुरुवार की रात दंतैल हाथी ने फुटहामुड़ा में कटहल व दोंदरो में केला की फसल को नुकसान पहुंचाया। इसकी वजह से लोग दहशत में रहे। वन अमला दंतैल की निगरानी में लगा हुआ है। करतला परिक्षेत्र में घूम रहा 22 हाथियों का झुंड धरमजयगढ़ वन मंडल की ओर चला गया है। इससे लोगों को राहत मिली है। 20 हाथियों का झुंड पसरखेत में घूम रहा है।

वन परिक्षेत्र कोरबा में दंतैल हाथी एक सप्ताह से घूम रहा है। पिछले सप्ताह बुंदेली के पास गांव में बैल को मार डाला था। इसके बाद आमाडांड के प्लांटेशन एरिया में डेरा जमाए हुए हैं। रोज रात के समय भोजन की तलाश में गांव के आसपास पहुंचता है। गुरुवार को वह बालको परिक्षेत्र की ओर चला गया था। गोड़मा में दो मकानों को क्षतिग्रस्त कर दिया। इससे लोग दहशत में रहे। वन अमला दंतैल हाथी के पीछे लगा हुआ था। फुटहामुड़ा में काफी देर तक कटहल खाता रहा। इसके बाद दोंदरो पहुंच गया। यह बालको के सेक्टर-2 से लगा हुआ है। हाथी के आने की खबर के बाद ग्रामीण दहशत में रहे। यहां से दंतैल बासीनखार होते हुए पुन: आमाडांड पहुंच गया है। डिप्टी रेंजर बसंत तिवारी ने बताया कि दंतैल की निगरानी के लिए वन अमले को लगाया गया है। उधर करतला परिक्षेत्र के हाथी अब मांड नदी पार कर धरमजयगढ़ वनमंडल पहुंच गए हैं। कुदमुरा परिक्षेत्र में घूम रहा 20 हाथियों का झुंड पसरखेत आ गया है। इसकी वजह से आसपास गांवों में लोगों को सतर्क किया गया है।

Click to listen..