--Advertisement--

तेज आंधी और बारिश से झड़ गए आम-टमाटर

कुछ जगह आज भी अंधड़-बारिश लालपुर मौसम केंद्र के निदेशक डा. प्रकाश खरे के अनुसार द्रोणिका के सक्रिय होने की वजह...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:50 AM IST
कुछ जगह आज भी अंधड़-बारिश

लालपुर मौसम केंद्र के निदेशक डा. प्रकाश खरे के अनुसार द्रोणिका के सक्रिय होने की वजह से पूरे छत्तीसगढ़ में मौसम बदला है। इसका असर एक-दो दिन रहेगा। इसलिए सोमवार को भी प्रदेश में दोपहर के बाद कहीं-कहीं अंधड़-बारिश के आसार हैं।

राजधानी मंे ब्लैक आउट जैसे हालात

आंधी के कारण तारों पर होर्डिंग्स और पेड़ों की डंगाले गिरने से राजधानी में शाम 6 बजे से ब्लैक आउट जैसे हालात हो गए। दरअसल अंधड़ आते ही बिजली कंपनी ने कुछ हिस्से में बिजली सप्लाई रोक दी। इनमें से जहां तार नहीं टूटे, वहां शाम साढ़े 6 बजे बिजली आ गई, लेकिन घने शहर का बड़ा हिस्सा देर रात तक अंधेरे में डूबा रहा। आधा दर्जन जगह ट्रांसफार्मर भी फेल हुए। बिजली कंपनी के अफसरों ने बताया कि मौसम सामान्य होने के बाद सप्लाई बहाल करने की कोशिश की जा रही है। छोटे फाल्ट रात 8 बजे तक सुधार लिए गए हैं। बड़े फाल्ट भी 10 बजे तक ठीक कर लिए जाएंगे।

अंधड़ के साथ हुई बारिश, उखड़े पेड़, टहनियां टूटीं

बिलासपुर शहर और आसपास के इलाके में तेज आंधी की वजह से कई पेड़ उखड़ गए और टहनियां टूट गईं। धूलभरी आंधी चली तो लोग परेशान हो गए। आंधी थमी तो बारिश होने लगी। करीब एक घंटे तक बारिश हुई। कई इलाकों में बिजली के तार टूट जाने से अंधेरा छाया रहा। कई इलाकों में एहतियात के तौर पर भी बिजली सप्लाई बंद कर दी गई थी। करीब तीन से चार घंटे तक अलग-अलग इलाकों में बिजली बंद रही। एक दिन पहले बिलासपुर में प्रदेश का सर्वाधिक तापमान (41.1 डिग्री) रिकार्ड हुआ था। रविवार को 36.7 डिग्री रिकार्ड किया गया।

कवर्धा व बेमेतरा जिले में बारिश, ओले से मसूर, चना को नुकसान

इंदौरी/गुढ़ा/बेमेतरा | कवर्धा जिले के इंदौरी और गुढ़ा क्षेत्र में आंधी और बारिश के साथ ओले गिरने से मसूर के पौधे को भारी नुकसान पहुंचा है। पौधे जमीन पर बिछ गए हैं। चना, गेहूं और सब्जी के पौधों को भी नुकसान हुआ है। क्षेत्र में 50 किलोमीटर प्रति रफ्तार से हवा चली। बेमेतरा में शाम 4 बजे से एक घंटे तक तेज बारिश हुई। इस दौरान अंधेरा छाया रहा।

कोरबा के हरदीबाजार क्षेत्र में धूल भरी अांधी चली और ओले भी गिरे

कोरिया जिले में धूल भरी अांधी चली और दोपहर करीब साढ़े तीन बजे से पांच बजे तक करीब डेढ़ घंटे जोरदार बारिश हुई। चिरमिरी, मनेंद्रगढ़, बैकुंठपुर में कई घंटों तक बिजली गुल रही। कोरबा जिले में सुबह से बदली छाई हुई थी। शाम 4 बजे तेज हवाओं के साथ शहर के कई हिस्से में बारिश हुई। टीपीनगर, पावरहाउस रोड, बुधवारी बाजार क्षेत्र में तेज बारिश हुई।