• Home
  • Chhattisgarh News
  • Koriya News
  • 94 लाख रुपए का घोटाला करने वाले 3 इंजीनियर, 5 ठेकेदारों पर केस दर्ज
--Advertisement--

94 लाख रुपए का घोटाला करने वाले 3 इंजीनियर, 5 ठेकेदारों पर केस दर्ज

ब्लाॅक भरतपुर में राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना के तहत 92 गांव में 94 लाख रुपए का फर्जीवाड़ा करने वाले 3 इंजीनियर,...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:55 AM IST
ब्लाॅक भरतपुर में राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना के तहत 92 गांव में 94 लाख रुपए का फर्जीवाड़ा करने वाले 3 इंजीनियर, हैदराबाद के 5 ठेकेदार के खिलाफ व्यवहार न्यायालय जनकपुर में परिवाद पेश करने पर फर्जीवाड़ा करने के आठ आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया गया है। खुलासा आरटीआई से मिली जानकारी में हुआ। परवादी ने निरीक्षण किया था। स्थल निरीक्षण में सबूत के तौर पर संबंधित ग्राम पंचायत के सरपंचों से कार्यो के संबंध में प्रमाण पत्र भी मांग लिया था। मामले में पुलिस में लिखित सूचना दी थी। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। कोरिया जिले के ग्राम जनकपुर निवासी टी श्रीनिवास राव ने व्यवहार न्यायालय में परिवाद प्रस्तुत कर राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना में फर्जीवाड़ा करने अफसर व ठेकेदार पर केस दर्ज कर कार्रवाई का परिवार दाखिल किया था। कहा था कि 92 ग्रामों में विद्युत व्यवस्था के लिए टेंडर निकाला गया था।

जनकपुर निवासी टी श्रीनिवास राव ने किया था न्यायालय में परिवाद प्रस्तुत

शिकायत की पर पुलिस ने नहीं की थी कार्रवाई

योजना के तहत 92 गांव में 94 लाख रुपए का फर्जीवाड़ा करने वाले 3 इंजीनियर, हैदराबाद के 5 ठेकेदार फर्जीवाड़ा के आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। जब मौके पर परवादी ने निरीक्षण किया। स्थल निरीक्षण में सबूत के तौर पर संबंधित ग्राम पंचायत के सरपंचों से कार्यो के संबंध में प्रमाण पत्र भी मांग लिया था। मामले में पुलिस में लिखित सूचना दी थी। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। इसके बाद कोर्ट में वाद दर्ज कराया था।

भ्रष्टाचार में इनके खिलाफ दर्ज हुआ केस

पी.श्रीनिवास राव पिता नामालूम (50), संचालक पीएसआर एलीकान प्राइवेट लिमिटेड हैदराबाद। ए.वेंकटारमन्ना पिता ए अंथारमैया (54), लोट्स कंस्ट्रक्शन फर्म हैदराबाद। टी.रामा कोटेश्वरा राव पिता टी पटटाभिरमैया (35), लोट्स कंस्ट्रक्शन फर्म हैदराबाद। टी.चैतन्या पति टी.रामा कोटेश्वरा राव (30) लोट्स कंस्ट्रक्शन फर्म हैदराबाद। वीवी.प्रसादा राव पिता वी.पटटाभिरमन्ना (42) लोट्स कंस्ट्रक्शन फर्म हैदराबाद। तत्कालीन कार्यपालन यंत्री ओएंडएम, सीएसपीडीसीएल मनेंद्रगढ़ कोरिया। सहायक यंत्री ए, ओ एंड एम, सीएसपीडीसीएल मनेंद्रगढ़ कोरिया। तत्कालीन कनिष्ठ यंत्री, डी जनकपुर कोरिया।

धोखाधड़ी समेत अलग

अलग धाराओं में केस दर्ज

छत्तीसगढ के ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए योजना के तहत टेंडर निकाला गया था। निविदा में पी श्रीनिवास राव ने अपनी कंपनी पीएसआर एलीकॉन प्राइवेट लिमिटेड के नाम पैकेज लिया था। विद्युतीकरण कार्य के लिए लोट्स कंस्ट्रक्शन साझेदारी फर्म मुख्यालय हैदराबाद को जिम्मेदारी दी गई थी। परिवाद प्रस्तुत होने के बाद न्यायालय के आदेश पर जनकपुर थाना में आरोपियों के खिलाफ धारा 34, 420, 467, 468, 471 के तहत केस दर्ज किया गया है।

फर्जी कामों में भी अिधक रेट के लगाए गए थे बिल

परिवादी साझेदारी कंपनी फर्म लोट्स कंस्ट्रक्शन में पेटी कंट्रैक्टर के इस कार्य में ठेका मजदूर के रूप में काम कर रहा था। इसमें एलटी पोल इरिक्सन काम करने प्रति पोल 1000 रुपए, एचटी पोल इरिक्सन कार्य करने पोल 1000 रुपए, डीपी इरिक्सन पोल के लिए प्रति पोल 1000 रुपए, डीटीआर इरिक्शन पोल के लिए प्रति पोल 1000 रुपए, केबल पोल काम करने 525 रुपए आदि के साथ प्रत्येक ग्राम में सामग्री परिवहन खर्च प्रति गांव के हिसाब से 5000 रुपए निर्धारित किया गया था।

सूचना के अधिकार से हुआ फर्जीवाड़े का खुलासा

शासन से बिल का भुगतान नही होने का हवाला देते हुए परिवादी व पेट्री कंट्रैक्टर मजदूर श्रीनिवासराव को कंपनी ने उसके कार्य का भुगतान नहीं किया। परिवादी ने सूचना के अधिकार के में विद्युत विभाग से जानकारी मांगी थी। तब जानकारी हुई