Hindi News »Chhatisgarh »Koria» दर्रीटोला स्टेशन में जबलपुर ट्रेन के स्टॉपेज की मांग

दर्रीटोला स्टेशन में जबलपुर ट्रेन के स्टॉपेज की मांग

बरबसपुर स्थित रेल्वे स्टेशन में अंबिकापुर-जबलपुर ट्रेन के स्टॉपेज की मांग को लेकर पांच सालों से क्षेत्रवासियों...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:05 AM IST

बरबसपुर स्थित रेल्वे स्टेशन में अंबिकापुर-जबलपुर ट्रेन के स्टॉपेज की मांग को लेकर पांच सालों से क्षेत्रवासियों ने कई बार डीआरएम बिलासपुर कार्यालय में पत्र प्रेषित किया है। इसके बावजूद अभी तक यहां इस संबंध में कोई पहल नहीं की गई है। इससे लोगों को परेशानी हो रही है।

क्षेत्रवासियों ने कहा कि जल्द मांग पूरी नहीं हुई तो एकजुट होकर आंदोलन करेंगे, जिसकी जिम्मेदारी रेलवे की होगी। गौरतलब है कि बरबसपुर स्थित रेल्वे स्टेशन दर्रीटोला जो रेल्वे के नक्शे में जंक्शन के रूप में स्थापित है। इस जगह से बड़े-बड़े उद्योगों के लिए कोयला लेकर मालगाड़ी गुजरती है। यहीं से कोरिया काॅलरी डोमनहिल, बरतुंगा, पोड़ी, देवा खदान जैसी जगहों से कोयला लेकर मालगाड़ी गुजरती है। यहां से रोज जबलपुर से अंबिकापुर 11265 व अंबिकापुर से जबलपुर 11266 नंबर ट्रेन गुजरती है पर उक्त ट्रेन का स्टॉपेज दर्रीटोला स्टेशन में नहीं होने से बरबसपुर के साथ चिरमिरी, नागपुर, बेलबहरा, नगर, जगतपुर, उजियारपुर सहित 24 से अधिक इलाके के लोगों को यात्रा करनी होती है तो उन्हें 35 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है।

उन्हें बैकुंठपुर रोड स्टेशन जाना पड़ता है या फिर बिजुरी स्टेशन। क्षेत्रवासी पिछले पांच सालों से उक्त ट्रेन के स्टॉपेज के लिए डीआरएम से मांग कर चुके हैं। इसके बावजूद अभी तक उनकी मांग पर किसी प्रकार की पहल नहीं की गई है। इससे क्षेत्रवासियों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। क्षेत्रवासियों ने कहा है कि यदि जल्द से जल्द मांग पूरी नहीं की गई तो जल्द आंदोलन करेंगे, जिसकी जिम्मेदारी रेलवे प्रशासन की होगी। कई बार क्षेत्र के लोगों ने प्रतिनिधि मंडल के साथ रेलवे जोन अधिकारयों से मुलाकात की, रेल मंत्री को पत्र भी लिखा पर इसके बाद भी नतीजा शून्य ही निकला। रेल विभाग का जंक्शन कहलाए जाने वाले स्टेशन में जबलपुर-अंबिकापुर जैसी ट्रेन के स्टॉपेज नहीं होने से क्षेत्रवासियों में मायूसी है।

पांच साल से डीआरएम सहित रेलमंत्री से क्षेत्रवासी कर चुके हैं मांग, यात्रियों को ट्रेन के लिए 35 किमी दूर जाना पड़ता है

असामाजिक तत्वों का डर और संसाधन का अभाव

क्षेत्र के लोगों का सफर तब मुसीबत भरा हो जाता है, जब वह रात में जबलपुर अम्बिकापुर ट्रेन से बैकुंठपुर रोड स्टेशन में उतरते हैं। ट्रेन जाने के बाद आसपास का एरिया सुनसान हो जाता है। इससे असामाजिक तत्वों का भय सताता है। साथ ही बरबसपुर चिरमिरी समेत आसपास के क्षेत्र तक आने के लिए कोई साधन भी नहीं मिलते हैं। इससे कई घंटे वहां साधन के इंतजार में बिताना पड़ता है। यदि कोई मिला भी तो औने-पौने दाम किराया वसूला जाता है। यदि इस ट्रेन का स्टाॅपेज दर्रीटोला में कर दिया जाए तो ट्रेन का सफर करने वाले यात्रियों को बड़ी राहत मिलेगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Koria

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×