• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Koria
  • Baikunthpur News chhattisgarh news breakers of fixed standard will be made at the places worn by more than 200 breakers in the district
--Advertisement--

िजले में 200 से अधिक ब्रेकर हटाकर चिंहित स्थानों पर तय मानक के ब्रेकर बनाए जाएंगे

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 02:02 AM IST

Koria News - भास्कर संवाददाता | बैकुंठपुर जिले में शहर हो या गांव में अमानक ब्रेकर की भरमार है। इसके कारण वाहन ड्राइवरों को...

Baikunthpur News - chhattisgarh news breakers of fixed standard will be made at the places worn by more than 200 breakers in the district
भास्कर संवाददाता | बैकुंठपुर

जिले में शहर हो या गांव में अमानक ब्रेकर की भरमार है। इसके कारण वाहन ड्राइवरों को परेशानी का सामना करना पड़ता हैं। कई बार तो एेसे अमानक ब्रेकर दूर से नजर ही नहीं आते और पास पहुंचते तक दुर्घटना हो जाती हैं। अब हाई कोर्ट के आदेश के बाद जिला मुख्यालय की मुख्य सड़कों से ब्रेकर हटाने का काम शुरू हो गया है, लेकिन अभी चिरमिरी बैकुंठपुर मार्ग से ही ब्रेकर हटाया गया है।

शहर के अंदर की सड़कों में अमानक ब्रेकर को हटाने का काम शुरू नहीं किया गया हैं। यही हाल नपा मनेंद्रगढ़, शिवपुर-चरचा और निगम चिरमिरी का भी है। यहां जानकारी के अनुसार गली-मोहल्लों में 100 से 500 मीटर की दूरी पर 200 से अधिक ब्रेकर लोगों ने बिना अनुमति के अपनी सुविधानुसार बना दिए। कोर्ट के आदेश के बाद जिला मुख्यालय की सड़कों से ब्रेकर हटाने का काम शुरू किया गया है, लेकिन यहां अभी तक स्टेट हाईवे की सड़कों से ही ब्रेकर हटाए जा रहे हैं। जबकि नेशनल हाईवे और नगरीय निकायों में बने ब्रेकर को हटाने की कार्रवाई ही शुरू नहीं की गई है।

मोहल्लों की गलियों में बच्चों की सुरक्षा के लिए बने ब्रेकर

गौरतलब है कि जिले के नगरीय निकायों की सड़कों में सबसे अधिक स्पीड ब्रेकर लोगों के द्वारा बना लिए गए हैं। अब उन ब्रेकरों को हटाने में निकाय को पसीना आ रहा हैं। दरअसल गली-मोहल्लों में लगातार वाहनों की संख्या बढ़ने और अतिक्रमण के कारण सड़कें संकरी हो गई हैं। छोटे बच्चों की सुरक्षा के लिहाज से पैरेंट्स अपने घर के बाहर ब्रेकर बनवा देते हैं, ताकि अगर बच्चा बाहर खेल रहा हो, तो वाहन चालक धीमी गति से वाहन चलाकर निकले लेकिन ब्रेकर अमानक होने के कारण वाहन चालक को इस बात का अंदाजा ही नहीं लग पाता कि ब्रेकर हैं। इस कारण से भी दुर्घटनाएं हो रही हैं। नगरीय निकायों से मिली जानकारी के अनुसार नगरों के मुख्य सड़कों में ब्रेकर हटाने के बाद गति सीमा निर्धारण का बोर्ड लगाया जाएगा। फिलहाल कोर्ट के आदेश का पालन नगरीय निकायों के द्वारा नहीं किया जा रहा हैं।

गली-मोहल्लों में 100 से 500 मीटर की दूरी पर 200 से अधिक ब्रेकर बिना अनुमति के अपनी सुविधानुसार बना लिए लोगों ने

शहर की मुख्य सड़क पर ब्रेकर से संबंधित काम करते हुए मजदूर।

ड्राइवर पीठ, कमर व गर्दन के दर्द से परेशान

जिलेभर में बने कई अमानक ब्रेकरों से न सिर्फ दुर्घटनाएं हो रही हैं। बल्कि वाहन के ड्राइवरों को ब्रेकर पार करते समय अचानक पीठ, कमर और गर्दन में झटका लगने के कारण पीठ दर्द, कमर दर्द और गर्दन दर्द की शिकायत लेकर डाॅक्टर के पास पहुंचते हैं। कहीं भी स्पीड ब्रेकर बनाने का नियम नहीं है। बेहद जरूरी होने पर पहले अनुमति जिला यातायात सुरक्षा समिति से ली जाती हैं और अनुमोदन के बाद ही निश्चित मापदंड के अनुरूप ब्रेकर बनवाए जाते हैं। वर्तमान में जहां भी सड़कें बनती हैं। वहां पर दबाव डालकर लोग स्पीड ब्रेकर बनवा लेते हैं।

निकायों को दिए ब्रेकर हटाने का आदेश

पूरे जिले भर की मुख्य सड़कों से ब्रेकर हटाने को आदेश कोर्ट ने दिया। सभी नगरीय निकायों के सीएमओ और कमिश्नर को कहा गया है कि जल्द से जल्द अमानक ब्रेकर को हटाए और जरूरत वाले जगहों पर तय मानक के आधार पर ब्रेकर बनाए जाएंगे।

मानक स्पीड ब्रेकर बनाने के ये हैं सही नियम

स्पीड ब्रेकर के लिए इंडियन रोड कांग्रेस की गाइडलाइन के अनुसार स्पीड ब्रेकर की अधिकतम ऊंचाई 4 इंच होनी चाहिए। ब्रेकर के दोनों ओर 2.2 मीटर का स्लोप दिया जाए ताकि वाहन स्लो होकर बगैर झटका खाए निकल जाए। 6 से 8 इंच तक ऊंचाई वाले और बगैर स्लोप के ब्रेकर नहीं बनाए जाने चाहिए। चेतावनी चिह्न लगे होने चाहिए। साथ ही ब्रेकर में सफेद या पीले पेंट व रेडियम होना चाहिए। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय और इंडियन रोड कांग्रेस के नियमों में सड़क पर स्पीड ब्रेकर का प्रावधान पहले से ही नहीं है। स्टेट हाइवे और मुख्य जिला मार्ग भी नियम से बंधे हुए हैं।

शहर के सभी अनावश्यक ब्रेकर हटवाए जाएंगे


नेशनल हाईवे में बिना स्लोप के बने ब्रेकर

जिला मुख्यालय से गुजरे हुए नेशनल हाईवे में कोर्ट के आदेश के बाद भी ब्रेकर नहीं हटाए गए हैं। गौरतलब है कि जिला मुख्यालय में बिना स्लोप के आठ ब्रेकर हैं। इनमें से चिल्ड्रन पार्क के पास बने ब्रेकर में रेडियम, सफेद या पीले पेंट से पट्टी तक नहीं हैं। वहीं खुटनपारा सहित शहर के मुख्य सड़कों पर भी जान लेवा ब्रेकर बनाया गया है।

X
Baikunthpur News - chhattisgarh news breakers of fixed standard will be made at the places worn by more than 200 breakers in the district
Astrology

Recommended

Click to listen..