• Home
  • Chhattisgarh News
  • Kunkuri News
  • स्कूलों में चरित्र निर्माण के लिए पहला कदम रखा जाता है: टीएस सिंहदेव
--Advertisement--

स्कूलों में चरित्र निर्माण के लिए पहला कदम रखा जाता है: टीएस सिंहदेव

निजी स्कूलों से अक्सर अधिक फीस वसूलने एवं शिक्षा की गुणवत्ता में कमी की शिकायतें मिलती हैं, ऐसे वक्त में यहां...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:50 AM IST
निजी स्कूलों से अक्सर अधिक फीस वसूलने एवं शिक्षा की गुणवत्ता में कमी की शिकायतें मिलती हैं, ऐसे वक्त में यहां अंग्रेजी माध्यम से संचालित लिटिल रोज स्कूल के अभिभावकों को खुशी रहती है कि उनके पास दोनों ही बातों की शिकायत नहीं है।

उक्त बातें शनिवार को देर शाम इस स्कूल का वार्षिक उत्सव का कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कही। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में शिक्षा का महत्व बढ़ गया है। प्रारंभ से ही बच्चों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा देने से ही विद्यार्थी प्रतियोगी परीक्षाओं में मुकाबला कर पाते हैं। इस बात को भलीभांति समझ कर यहां की निजी शैक्षणिक संस्थान ने अपनी अलग पहचान बनाई है। शिक्षा के क्षेत्र में पिछले 3 दशक से अपनी बेहतर सेवा के बलबूते पर ही इस संस्थान ने अब महिला कालेज के लिए भी सुविधा उपलब्ध कराने की नींव रख दी है। श्री सिंहदेव ने कहा कि स्कूलों में ही चरित्र निर्माण की शिक्षा दीक्षा के लिए पहला कदम रखा जाता है। यहां शिक्षकों की अच्छी बातें जीवन की हर कठिनाई को आसान बना देती हैं। इस काम में अंग्रेजी माध्यम का यह स्कूल अपनी अलग पहचान बना चुका है।

स्कूल के निदेशक पवन अग्रवाल ने बताया कि इस वर्ष से विद्यार्थियों को सीबीएससी की भी सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। उन्‍होंने स्कूल में संचालित विभिन्न गतिविधियों का भी व्योरा दिया। इस कार्यक्रम में पूर्व विधायक रामपुकार सिंह,सत्यनारायण शर्मा,आरती सिंह, कुनकुरी के मुरारीलाल अग्रवाल सहित अन्य लोगों ने भी इस शैक्षणिक संस्थान के शिक्षा जगत में उत्कृष्ट योगदान की सराहना की।

हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम

वार्षिक उत्सव का कार्यक्रम में स्कूली बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया था। नन्हे बच्चों ने आकर्षक वेशभूषा के साथ अपना प्रदर्शन कर दर्शकों की खूब तालियां बटोरी। हाई स्कूल और माध्यमिक स्कूल में विद्यार्थियों का बेहतर प्रदर्शन पर उन्हें पुरस्कृत भी किया गया। इस दौरान काफी संख्या में अभिभावक और शहर के गणमान्य नागरिक भी उपस्थित थे।