Hindi News »Chhatisgarh »Lakhanpuri» नहीं लौटे शिक्षक: ग्रामीणों ने कहा बच्चों के भविष्य को बनाया मजाक

नहीं लौटे शिक्षक: ग्रामीणों ने कहा बच्चों के भविष्य को बनाया मजाक

दुर्गूकोंदल| शिक्षकों के संलग्नीकरण का आदेश निरस्त किए जाने के बाद भी वे वापस नहीं लौट रहे हैं। एेसे शिक्षकों की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 20, 2018, 03:45 AM IST

दुर्गूकोंदल| शिक्षकों के संलग्नीकरण का आदेश निरस्त किए जाने के बाद भी वे वापस नहीं लौट रहे हैं। एेसे शिक्षकों की मूल शाला में पढ़ाई प्रभावित हो रही है। शिक्षकों के रवैए को देखते अब जनप्रतिनिधि भी खुलकर सामने आने लगे हैं। जनप्रतिनिधियों ने कहा शिक्षकों ने बच्चों के भविष्य को मजाक बना कर रख दिया है। इसे लेकर अब जनप्रतिनिधि आंदोलन के मूड में हैं।

दुर्गूकोंदल विकासखंड के चार शिक्षाकर्मी चारामा विकासखंड के स्कूलों में अटैच हैं जिन्हें जिला पंचायत द्वारा अब तक दुर्गूकोंदल विकासखंड में वापस नहीं किया गया है। दुर्गूकोंदल विकासखंड के खेमन सिन्हा को माध्यमिक शाला कराकी दुर्गूकोंदल से 8 सितंबर 2016 से हाईस्कूल भोथा चारामा, ममता साहू शिक्षाकर्मी वर्ग 2 को माध्यमिक शाला दियागांव से 24 जून 2016 से माध्यमिक शाला लखनपुरी, द्वारिका प्रसाद यादव शिक्षाकर्मी वर्ग 2 माध्यमिक शाला पचांगी को 23 सितंबर 2016 से माध्यमिक शाला तिरकादंड तथा निर्मला ध्रुव शिक्षाकर्मी वर्ग 3 प्राथमिक शाला मिंदोड़ा को 11 अप्रैल 2015 से प्राथमिक शाला उकारी विकासखंड चारामा में अटैच किया गया है।

संलग्नीकरण का फायदा कम नुकसान ज्यादा

स्कूल में पढ़ाने शिक्षक नहीं आए तो होगा प्रदर्शन

ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शोपसिंह आचला ने कहा भाजपा सरकार की शिक्षा नीति ठीक नहीं है। बच्चे पढ़े या ना पढ़े, स्कूल जाएं या ना जाएं, फिर भी पास हो रहे हैं। इसी तरह पैसे देकर मनपसंद स्कूलों में शिक्षाकर्मी अपना अटैच करा रहे हैं। चाहे भले ही इनकी शाला में शिक्षकों की कमी हो। दुर्गकोंदल में शिक्षकों की कमी होने के बावजूद दो साल से दुर्गूकोंदल के शिक्षकों चारामा में अटैच कर बच्चों के भविष्य को मजाक बना दिया गया है। अध्यक्ष ने कहा यदि पांच दिवस के भीतर ये मूल शाला नहीं लौटते हैं तो धरना प्रदर्शन कर आंदोलन किया जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Lakhanpuri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×