• Home
  • Chhattisgarh News
  • Mahasamund News
  • हाजिरी लगाने के लिए स्कूलाें में बांटे गए टैबलेट, थंब इम्प्रेशन दर्ज नहीं होने से कई बुजुर्ग शिक्षक परेशान
--Advertisement--

हाजिरी लगाने के लिए स्कूलाें में बांटे गए टैबलेट, थंब इम्प्रेशन दर्ज नहीं होने से कई बुजुर्ग शिक्षक परेशान

शिक्षकों की समय पर उपस्थिति तय करने शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों में टैबलेट दिया है, लेकिन यही टैबलेट शिक्षकों के...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:15 AM IST
शिक्षकों की समय पर उपस्थिति तय करने शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों में टैबलेट दिया है, लेकिन यही टैबलेट शिक्षकों के लिए परेशानी का सबब बन गया है। शिक्षक टैबलेट में थंब इम्प्रेशन दर्ज नहीं होने से परेशान हैं। ज्यादातर परेशानी उम्रदराज शिक्षकों को हो रही है।

12 फरवरी से प्राथमिक से लेकर हायर सेकंडरी स्कूल तक टैबलेट वितरण शुरू किया गया। शिक्षकों को इन टैबलेट्स में अपना थंब लगाकर उपस्थिति देनी है। स्कूल की छुट्टी के बाद दोबारा थंब लगाना है। शिक्षकों के दोनों हाथों के दस अंगुलियों का प्रिंट लिया गया है, लेकिन कई शिक्षकों का एक भी अंगुली का थंब मैच नहीं हो रहा है। स्कूलों से लगातार इसकी शिकायतें मिल रही है।

महासमुंद| टैबलेट्स में उपस्थिति दर्ज कराने में आ रही है परेशानी।

हाजिरी में लगते हैं 15 मिनट

अतिष कुमार ने कहा टैबलेट में कई बार थंब लगाने के बाद अटेंडेंस लगने में 15 मिनट का समय लग जाता है। बेमचा स्कूल के शिक्षक विवेक कुमार ने कहा रजिस्टर में ही उपस्थिति देनी पड़ रही है।

साफ हाथों से ही लगाएं थंब

राजीव गांधी शिक्षा मिशन जिला समन्वयक हिमांशु भारतीय ने कहा कि शिक्षक साफ सुथरे हाथों से ही थंब लगाएं। इससे परेशानी नहीं होगी। नेटवर्क की समस्या होने पर भी टैबलेट थंब नहीं ले पाता।

ज्यादा उम्र वाले शिक्षकों के साथ परेशानी

सीएससी खट्‌टा से आए संकुल समन्वयक धानेश्वर मारकंडे ने बताया कि ज्यादा उम्र वाले कुछ शिक्षकों के साथ थंब को लेकर परेशानी है, जिनकी ऊंगली जली हुई है ऐसे शिक्षकों के साथ भी दिक्कत है। इसका निराकरण किया जा रहा है।

टैबलेट की गुणवत्ता अच्छी नहीं

मानपुर के शिक्षक घनश्याम दीवान ने बताया कि कई बार थंब लगाने के बाद ही उपस्थिति दर्ज हो पाती है। टैबलेट की गुणवत्ता अच्छी नहीं होने के कारण ऐसा हो रहा है। रोहित ध्रुव, शिव कुमार जांगड़े, पूनम चंद्र ध्रुव ने कहा टैबलेट में उपस्थिति में काफी समय लगता है।