Hindi News »Chhatisgarh »Mahasamund» प्रैक्टिकल के लिए पर्यवेक्षक बोर्ड ने किए तय, इन्हेंं बदल नहीं पाएंगे स्कूल प्रबंधन

प्रैक्टिकल के लिए पर्यवेक्षक बोर्ड ने किए तय, इन्हेंं बदल नहीं पाएंगे स्कूल प्रबंधन

बोर्ड कक्षाओं के प्रैक्टिकल का समय शुरू हो चुका है। बोर्ड ने 27 जनवरी से 15 फरवरी तक प्रैक्टिकल कराने स्कूलों को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:50 AM IST

बोर्ड कक्षाओं के प्रैक्टिकल का समय शुरू हो चुका है। बोर्ड ने 27 जनवरी से 15 फरवरी तक प्रैक्टिकल कराने स्कूलों को निर्देश दिए हैं। साथ ही इस बार बोर्ड ने ही पर्यवेक्षकों के नाम तय किए हैं। इनकी सूची वेबसाइट पर जारी की गई है। इसके लिए जुलाई में स्कूलों से शिक्षकों के नाम मंगाए गए थे।

बोर्ड ने मंगाई गई सूची से ही पर्यवेक्षक के नाम तय किए हैं। इसके बिना कोई भी स्कूल प्रैक्टिकल परीक्षा पूरा नहीं करा सकता। यदि बोर्ड के तय किए गए पर्यवेक्षक में से कोई परीक्षा कराने नहीं भी जाता है तो दूसरा नाम भी बोर्ड तय करेगा।

बताया जा रहा है कि ऐसी स्थिति में स्कूलों को मंडल या संभागीय कार्यालय से संपर्क करना होगा। बाेर्ड ने इस बार प्रैक्टिकल परीक्षा भी ऑनलाइन कर दी है। प्रैक्टिकल परीक्षा में इंटरनल की नियुक्ति की व्यवस्था पूर्व के समान स्कूलों पर ही रहेगी, लेकिन एक्सटर्नल के लिए बोर्ड की मर्जी के अनुसार अब काम होगा।

बताया जा रहा है कि बोर्ड परीक्षाओं में श्रेणी प्राप्त करने में प्रैक्टिकल अंकों का महत्वपूर्ण योगदान होता है। मेधावी बच्चे इसके बाद भी प्रैक्टिकल एग्जाम के लिए मेहनत करते है, लेकिन सामान्य व कमजोर बच्चे प्रैक्टिकल एग्जाम को उतनी गंभीरता से नहीं लेते है। बताया जा रहा है कि इस बार उन्हें मेहनत करनी होगी। यदि बोर्ड से तय हुआ पर्यवेक्षक संबंधित स्कूल में नहीं भी जाता है तो भी स्कूल अपनी मर्जी से प्रैक्टिकल परीक्षा नहीं कराएंगे।

स्कूलों को भेजने होंगे 25 तक प्रैक्टिकल के अंक

स्कूलों में प्रैक्टिकल परीक्षा पूरी कराने की मियाद 15 फरवरी रखी गई है। स्कूलों को छात्र-छात्राओं के प्रैक्टिकल नंबर 25 फरवरी तक भेजने होंगे। इसके बाद विलंब से अंक भेजने पर स्कूलों को प्रतिदिन के हिसाब से 200 रुपए जुर्माना लगेगा। देरी से अंक भेजने पर उसे अमान्य भी किया जा सकता है।

10वीं मेंे 16522, 12वीं में 12665 परीक्षार्थी होंगे शामिल

दसवीं की परीक्षा 5 मार्च से और बारहवीं की परीक्षा 7 मार्च से शुरू हो रही है। दसवी में 16522 और बारहवीं में 12665 परीक्षार्थी शामिल हो रहे है। जिला शिक्षा अधिकारी डीएल कुर्रे ने बताया कि बोर्ड के निर्देशों के अनुसार ही स्कूलों को परीक्षा करानी होगी। इसके लिए कोई भी कोताही नजरअंदाज नहीं की जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mahasamund

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×