--Advertisement--

फाॅरेस्ट टीम को ग्रामीण ने दी जान से मारने की धमकी

महासमुंद| जब्त लकड़ी को लेने पहुंची वन विभाग की टीम को नरसैय्यापालम गांव में एक ग्रामीण के आक्रोश का सामना करना...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 03:00 AM IST
महासमुंद| जब्त लकड़ी को लेने पहुंची वन विभाग की टीम को नरसैय्यापालम गांव में एक ग्रामीण के आक्रोश का सामना करना पड़ा। वन विभाग की टीम के साथ ग्रामीण ने न केवल गाली गलौच की, बल्कि जान से मारने की भी धमकी दी। इससे वन विभाग के कर्मचारी बैरंग लौट आए। इधर इस मामले की शिकायत के बाद पुलिस ने एक ग्रामीण के खिलाफ मामला दर्ज कर विवेचना में लिया है।

बसना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार वन परिक्षेत्र बम्हनी के अंतर्गत आने वाले ग्राम नरसैय्यापालम में गांव के ही रामप्रसाद विश्वकर्मा के पास से 76 नग मिश्रित प्रजाति की इमारती लकड़ी जब्त की गई थी। गुरुवार को दोपहर 12 बजे के करीब सहायक वन परिक्षेत्राधिकारी गजकुमार ठाकुर अपनी टीम के साथ गांव पहुंचे थे। इस पर रामप्रसाद विश्वकर्मा ने पीओआर लेने से साफ मना कर दिया। इसके बाद शासकीय काम में बाधा पहुंचाते हुए वन कर्मचारियों के साथ गाली गलौच करते हुए जान से मारने की धमकी दी। इस दौरान वनरक्षक देवानंद सोनी, सत्यवान श्रीवास्तव, टीकमचंद सार्वा, केशराम जांगड़े, नयन राणा आदि मौजूद रहे। वहां से लौटने के बाद सहायक वन परिक्षेत्राधिकारी गजकुमार ठाकुर ने इसकी शिकायत बसना थाने में की। पुलिस ने आरोपी रामप्रसाद विश्वकर्मा के खिलाफ मामला दर्ज किया है।