Hindi News »Chhatisgarh »Mahasamund» 7 हजार लोग करते हैं सफर, वेटिंग रूम में न बैठने की जगह, पीने का पानी भी नहीं

7 हजार लोग करते हैं सफर, वेटिंग रूम में न बैठने की जगह, पीने का पानी भी नहीं

ये तस्वीरें जिला मुख्यालय महासमुंद के बस स्टैंड की हैं। यहां से रायपुर, सराईपाली, राजिम, बागबाहरा, छुरा,खम्हरिया,...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:15 AM IST

  • 7 हजार लोग करते हैं सफर, वेटिंग रूम में न बैठने की जगह, पीने का पानी भी नहीं
    +1और स्लाइड देखें
    ये तस्वीरें जिला मुख्यालय महासमुंद के बस स्टैंड की हैं। यहां से रायपुर, सराईपाली, राजिम, बागबाहरा, छुरा,खम्हरिया, ओडिशा रूट पर 120 बसें चलती हैं, जिससे यहां रोजाना 7 से 10 हजार लोगांे का अाना जाना होता है। बावजूद इसके बस स्टैंड में यात्रियों के लिए न तो सर्व सुविधायुक्त यात्री प्रतीक्षालय है और न ही पीने का पानी। यही कारण है कि सफर करने वाले लोगों को भीषण गर्मी में ठेके खोमचे के शेड में शरण लेनी पड़ रही है। सराईपाली से पहुंची ममता साहू, रमेश नेताम, नरेश चक्रधारी ने बताया कि यहां के बस स्टैंड में भारी अव्यवस्था है। न यहां प्याऊ की व्यवस्था की गई है और न ही साफ सफाई का ध्यान दिया जा रहा है। इसलिए यात्री गंदे स्थान पर बैठने के लिए विवश है।

    हाईटेक बस स्टैंड बनाया जाना है: सीएमएचओ प्रीति सिंह का कहना है कि नया बस स्टैंड बनाने का प्लान चल रहा है। जगह फाइनल नहीं होने के कारण अब तक नहीं बन पाया है। जगह फाइनल होते ही साढ़े 4 करोड़ का हाईटेक बस स्टैंड का निर्माण कराया जाएगा।

    ठेले खोमचे की तिरपाल में ली शरण: यात्री बस के इंतजार में इधर उधर भटक रहे है। उन्हें किसी छायादार जगह की तलाश है, लेकिन आसपास ऐसी कोई जगह नजर नहीं आ रही। अंत में मंदिर के नीचे, या ठेके खोमचे की तिरपाल के नीचे सिर छुपा रहे हैं।

    प्रतीक्षालय में हर तरफ गंदगी: बस स्टैंड का यात्री प्रतीक्षालय। हर तरफ गंदगी है। बैठने के लिए बने चबूतरे का बैठना मुश्किल । यह बस स्टैंड के कोने में स्थित है, जो यात्रियों को दिखाई भी नहीं दे रहा।

    चार रूट पर 120 से ज्यादा बसों में रोज 7 हजार लोग करते हैं सफर

    गर्मी से निजात के लिए प्रबंध नहीं

    भीषण गर्मी में छांव की तलाश में प्रतीक्षालय में लोगों की भीड़ रहती है, लेकिन यहां गर्म हवाओं से बचाने के लिए प्रतीक्षालय को खस की टाट आदि से कवर नहीं किया गया है। प्रतीक्षालय में फिलहाल लोगों को छांव ही मिल रहा है, जबकि गर्म हवाओं से लू लगने का खतरा बना हुआ है।

    वैकल्पिक बस स्टैंड में भी सुविधा नहीं

    राजिम, बागबाहरा, छुरा की ओर जाने वाले यात्रियों के लिए बरोंडा चौंक के पास वैकल्पिक बस स्टैंड का निर्माण किया गया है। जहां न यात्री प्रतीक्षालय है और न ही प्रसाधन की सुविधा। घोषित बस स्टाप नहीं होने के कारण पालिका इन स्थानों पर यात्रियों को छत नहीं दे सकता। फायदे के लिए बस आपरेटर यहां से सवारी भरते है। यात्री धूप में तपते रहते है।

  • 7 हजार लोग करते हैं सफर, वेटिंग रूम में न बैठने की जगह, पीने का पानी भी नहीं
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mahasamund

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×