• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Mainpur
  • आदिवासी समाज के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए शिक्षा की ज्यादा जरूरत : ठाकुर
--Advertisement--

आदिवासी समाज के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए शिक्षा की ज्यादा जरूरत : ठाकुर

विश्व आदिवासी दिवस पर भगवान बूढ़ादेव की पूजा के बाद तहसील मुख्यालय में आदिवासियों ने पारंपरिक हथियार तीर धनुष,...

Dainik Bhaskar

Aug 10, 2018, 02:56 AM IST
आदिवासी समाज के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए शिक्षा की ज्यादा जरूरत : ठाकुर
विश्व आदिवासी दिवस पर भगवान बूढ़ादेव की पूजा के बाद तहसील मुख्यालय में आदिवासियों ने पारंपरिक हथियार तीर धनुष, भाला, बरछा, तलवार लेकर रैली निकाली और हथियारों को लहराकर शक्ति प्रदर्शन किया। वीर नारायण चौक स्थल जिड़ार रोड पर विशेष पूजा के बाद रैली में 50 गांव के लोग मुख्य मार्ग जनपद पंचायत होते हुए सामुदायिक भवन पहुंचे। इस दौरान एक तीर, एक कमान सारे आदिवासी एक समान, आदिवासी एकता जिंदाबाद जैसे नारे लगाए गए और जमकर आतिशबाजी की गई। कार्यक्रम में समाज के दस मेधावी छात्र-छात्राओं को नगद पुरस्कार दिया गया।

सामुदायिक भवन में विशाल सभा में अध्यक्षता कर रहे जिला पंचायत उपाध्यक्ष पारस ठाकुर ने कहा कि पूरे गरियाबंद जिले में मैनपुर एक ऐसा ब्लॉक है, जहां आदिवासी समाज के लोग अपने त्यौहारों को पूरी परंपरा और रीति-रिवाज के अनुसार मनाते हैं। वे प्रकृति के पुजारी हैं और जल, जंगल एवं जमीन की हमेशा रक्षा करते हैं। आज समाज के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरत शिक्षा पर देने की है। समाज के बच्चे अच्छे शिक्षा हासिल कर परिवार समाज और राष्ट्र के विकास मे योगदान देंगे।

कार्यक्रम में कोया भूमकाल सेना के अध्यक्ष बलदेव राज ठाकुर, कोषाध्यक्ष रामकृष्ण ध्रुव, महेन्द्र नेताम, मुकुंद कुंजाम, सरपंच भाठीगढ़ ईश्वर नागेश, सरपंच गोपालपुर गयचंद कोमर्रा, शिशुपाल नायक, भावेश शांडिल्य, दिनेश शांडिल्य, राजकुमार ध्रुर्वा, प्रेमलाल ध्रुव, कमलेश ध्रुव, जनपद सदस्य सुकचंद ध्रुव, पदमनी शांडिल्य, टीकम कपिल, रेणुका ठाकुर, तिजिया बाई, कुमारी बाई, राजकुमारी ध्रुव, भारती ठाकुर, संजय नेटी, रूप सिंग मरकाम, तहसीलदार सुरेंद्र ध्रुव, थाना प्रभारी बसंत बघेल सहित लगभग 50 गांव के हजारों आदिवासी शामिल रहे। संचालन पूरन मेश्राम एवं आभार प्रदर्शन महासचिव नोकेलाल ध्रुव व रामकृष्ण ध्रुव ने किया।

मुस्लिम कमेटी ने शरबत पिला सद्भावना का संदेश दिया : आदिवासी दिवस पर मुस्लिम यंग कमेटी मैनपुर के गुलाम मेमन, गफ्फू मेमन, शाहीद भाई, दादू भाई, अजहर मेमन युवाओं ने कार्यक्रम स्थल पर आदिवासी समाज के लोगों को शरबत पिलाकर सद्भावना का संदेश दिया।

मैनपुर. विश्व आदिवासी दिवस पर भगवान बूढ़ादेव की पूजा के बाद नेताओं ने नगर में निकाली रैली।

समाज की अपनी अगल परंपरा व संस्कृति

सभा को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि पूर्व विधायक डमरुधर पुजारी ने कहा कि जल, जंगल और जमीन का असली मालिक यहां के मूल निवासी आदिवासी हैं। आदिवासी समाज प्रदेश का गौरव है। आज पूरे विश्व में विश्व आदिवासी दिवस मनाया जा रहा है। आदिवासी समाज की एक अपना अलग परंपरा और संस्कृति है। विशेष अतिथि लघु वनोपज के जिला अध्यक्ष भागीरथी मांझी ने कहा कि प्रदेश सरकार अनेक योजनाएं संचालित कर रही हैं। हमें जरूरत है कि पूरी जागरूकता के साथ उन योजनाओं का लाभ उठाएं और समाज के सभी लोगों का सहयोग करें।

193 देशों में मनाते हैं आदिवासी दिवस

प्रदेश के आदिवासी नेता जनक ध्रुव ने कहा कि पूरे विश्व के 193 देशों में विश्व आदिवासी दिवस मनाया जा रहा है। जनपद सदस्य संजय नेताम ने कहा कि आदिवासी समाज का काफी गौरवशाली इतिहास रहा है। समाज व राष्ट्र के लिए हजारों आदिवासियों ने अपनी कुर्बानी दी है, आज उन्हें याद करने का दिन है और उनके बताए रास्तों पर चलने की जरूरत है। जिला पंचायत सभापति लोकेश्वरी नेताम, हेमसिंग नेगी, खेदू नेगी, कैलाश ध्रुर्वा, टीकम नागवंशी, नैन सिंग नेताम, सियाराम ठाकुर सहित कई आदिवासी नेताओं ने संबोधित किया।

X
आदिवासी समाज के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए शिक्षा की ज्यादा जरूरत : ठाकुर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..