Hindi News »Chhatisgarh »Mainpur» कुसियार बरछा में 3 साल पहले बना स्टाॅपडैम बारिश में बहा, जांच की मांग

कुसियार बरछा में 3 साल पहले बना स्टाॅपडैम बारिश में बहा, जांच की मांग

मैनपुर से लगभग 22 किमी दूर ग्राम पंचायत शोभा के आश्रित ग्राम कुसियार बरछा में 3 साल पहले भूमि संरक्षण विभाग राजीव...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 03:06 AM IST

कुसियार बरछा में 3 साल पहले बना स्टाॅपडैम बारिश में बहा, जांच की मांग
मैनपुर से लगभग 22 किमी दूर ग्राम पंचायत शोभा के आश्रित ग्राम कुसियार बरछा में 3 साल पहले भूमि संरक्षण विभाग राजीव जलग्रहण मिशन द्वारा लगभग 15 लाख रुपए की लागत से स्टापडेम निर्माण किया गया था जो इस साल पहली ही बारिश में ही बह गया। जबकि दो साल पहले ही क्षेत्र के जनपद सदस्य संजय नेताम व ग्रामीणों ने जिले के आला अधिकारियों से स्टापडेम निर्माण की जांच कर दोषी अधिकारी-कर्मचारियों पर कार्रवाई करने की मांग की थी लेकिन अब तक इस मामले मे कोई जांच नहीं हुई।

ग्राम पंचायत शोभा के आश्रित ग्राम कुसियार बरछा में 3 साल पहले भूमि संरक्षण विभाग द्वारा लगभग 15 लाख रुपए की लागत से शोभा नदी में स्टाप डेम का निर्माण किया गया। जब स्टाप डैम का निर्माण किया जा रहा था तभी इसकी गुणवत्ता को लेकर ग्रामीणों ने उच्च अधिकारियों से शिकायत भी की थी लेकिन उस समय ग्रामीणों की शिकायत पर ध्यान नहीं दिया गया। आखिर 3 साल बाद पहली ही बारिश में स्टाप डैम उखड़ कर बह गया। साथ ही इसके अगल-बगल के पिल्लहर भी टूट कर बह गए हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि बगैर नींव खुदाई के ही निर्माण कराया गया था जबकि इस स्टापडैम से आस-पास के सैकड़ों एकड़ खेतों में खरीफ फसल में सिंचाई हो सकती थी लेकिन घटिया निर्माण के कारण इसका लाभ नहीं मिल पाया।

मैनपुर. ग्राम कुसियार बरछा का यही स्टाॅपडैम बारिश में बह गया है।

ग्रामीण बोले- स्टाॅपडैम बहते ही हटा दिया गया था वहां से बोर्ड

ग्रामीण सुकदेव राम, गोकुल सिंह, चैनसिंह, टंकेश्वर, बैशाखुराम, शंकर सिंह, मन्नूराम, तिलकराम, घनश्याम, मनोज मिश्रा ने बताया कि भूमि सर्वेक्षण विभाग द्वारा स्टापडैम का निर्माण किया गया था और विभाग द्वारा बोर्ड भी लगाया गया था लेकिन जैसे ही स्टापडैम बह गया रातों-रात बोर्ड को ही गायब कर दिया गया। पिछले तीन वर्षों से घटिया निर्माण की जांच की मांग कर रहे हैं लेकिन अब तक किसी भी अधिकारी द्वारा मामले में जांच नहीं की गई है ग्रामीणों ने जांच के साथ कार्रवाई की मांग की है।

घटिया सामग्री का इस्तेमाल

जनपद सदस्य संजय नेताम ने बताया कि निर्माण में घटिया सामग्री उपयोग करने की शिकायत क्षेत्र के ग्रामीणों ने निर्माण के समय आला अधिकारियों से की थी लेकिन ध्यान नहीं देने के कारण यह बह गया। इसकी निष्पक्ष जांच कर दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mainpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×