• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Mainpur
  • क्षेत्र में हुई बारिश के बाद तेजी से की जा रही रोपाई, अब तक 80% बुआई पूरी
--Advertisement--

क्षेत्र में हुई बारिश के बाद तेजी से की जा रही रोपाई, अब तक 80% बुआई पूरी

क्षेत्र में सिंचाई का कोई साधन नहीं होने से किसान खेती के लिए मौसम पर ही निर्भर रहते हैं। क्षेत्र में 4-5 दिनों से हो...

Dainik Bhaskar

Jul 23, 2018, 03:10 AM IST
क्षेत्र में हुई बारिश के बाद तेजी से की जा रही रोपाई, अब तक 80% बुआई पूरी
क्षेत्र में सिंचाई का कोई साधन नहीं होने से किसान खेती के लिए मौसम पर ही निर्भर रहते हैं। क्षेत्र में 4-5 दिनों से हो रही बारिश के कारण धान की रोपाई तेजी से हाे रही है। अब तक 80 फीसदी बोआई क्षेत्र में हो चुकी है। इन दिनों ठेकेदार रोपाई का ठेका प्रति एकड़ 4500 से 5 हजार रुपए तक ले रहे हैं। वहीं रोटोवेटर व ट्रैक्टर से एक घंटा खेतों की जुटाई की कीमत 800 से 900 रुपए तक है।

किसान सुकदेव ठाकुर, भरत दीवान, जागेश्वर पटेल ने बताया कि 4-5 दिनों से अच्छी बारिश होने के कारण किसानी कार्य जोर पकड़ा है। एक साथ सभी जगह किसानी का काम शुरू होने के कारण मजदूर नहीं मिल पा रहे हैं। कई किसानों को रोपा लगाने के लिए धान की थरहा की कमी हो रही है। मैनपुर क्षेत्र में लगभग 60 प्रतिशत बोआई का काम पूरा हो चुका है। खेती कार्य में तेजी के कारण मजदूरों का टोटा लगा हुआ है। साथ ही खेतों की जुताई के लिए ट्रैक्टर वालों का इंतजार करना पड़ रहा है। देर रात तक ट्रैक्टर वाले खेतों मे जुताई कर रहे हैं। मैनपुर, हरदीभाठा, भाठीगढ़, नहानबिरी, कोदोभाठ, गोबरा, गोपालपुर, छुईहा, कुल्हाड़ीघाट, गौरघाट, देहारगुड़ा, मैनपुरकला, जाड़ापदर, जिड़ार, तुहामेटा, कोनारी, झरियाबाहरा, बरदूला, तौरेंगा, कोदोमाली, शोभा, गोना, गौरगांव, कोयबा, इंदागांव, कुचेंगा, गरहाडीह, साहेबिन, कुर्रूभाठा आदि गांवों मे धान की बोआई व रोपाई तेजी से हो रही है। कृषि अधिकारी भावेश सांडिल्य ने बताया कि मैनपुर विकासखंड में 18 हजार हेक्टेयर में धान की खेती किया जाता है। इसमें से 80 प्रतिशत बोआई का काम पूरा हो चुका है।

मैनपुर. मैनपुर विकासखंड में 3-4 दिनों से हुई बारिश के बाद रोपाई कार्य में आई तेजी आई है।

खाद, कीटनाशक दवाई का किसान कर रहे हैं खेतों में छिड़काव

लवन| अंचल में सप्ताह भर से लगातार बारिश से खेती-किसानी कार्य में तेजी आ गई है। खेतों में पानी भरने से किसान रोपाई में जुट गए हैं। किसान अपने-अपने खेतों में व्यस्त हैं। बारिश के बीच गांव-गांव में धान रोपाई चल रहा है। अच्छी फसल के लिए खेतों में खाद डाली जा रही है। तथा कीटनाशक दवाई का छिड़काव भी किया जा रहा है। अंचल के ग्राम कोरदा, डोंगरा, परसापाली, सिंघारी, भालूकोना, हरदी, बगबुड़ा, कुम्हारी, खैंदा, अहिल्दा, बरदा, पैंजनी, सरखोर, पंडरिया, चिचिरदा, जुड़ा, डोटोपार, लाहोद सहित 70 फीसदी तक बुआई का कार्य कर चुके हैं। ग्राम कोरदा के किसान तिलकुमार वर्मा ने चर्चा के दौरान बताया कि रोपाई के लिए अच्छी बारिश का इंतजार कर रहे थे। जो बारिश होने के साथ ही रोपाई काम शुरू हो गया है। रोपाई में धान के पौधों को 6 इंच का गेप रख रहे हैं। कुछ किसानों को मजदूर नहीं मिलने के कारण दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। दूसरे गांव से मजदूर लाने से मजदूर दर 200 रुपए लग रहा है। वहीं किसान अच्छी फसल के लिए खाद, बीज, दवाई और कृषि उपकरणों की खरीदी के लिए किसानों की भीड़ जुट रही है। शनिवार की दोपहर हुई तेज बारिश से खेती किसानी के काम और अधिक तेजी आएगी। क्षेत्र में कही पारंपरिक रूप से बैलों से जुताई की जा रही है तो कहीं किसान जल्द काम निपटाने के लिए ट्रैक्टर का सहारा ले रहे हैं।

क्षेत्र में हुई बारिश के बाद तेजी से की जा रही रोपाई, अब तक 80% बुआई पूरी
X
क्षेत्र में हुई बारिश के बाद तेजी से की जा रही रोपाई, अब तक 80% बुआई पूरी
क्षेत्र में हुई बारिश के बाद तेजी से की जा रही रोपाई, अब तक 80% बुआई पूरी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..