• Home
  • Chhattisgarh News
  • Manendragarh News
  • सीएम काे फोन पर बताया गांव की सड़क खराब है, आश्वासन के बाद भी नहीं बनी
--Advertisement--

सीएम काे फोन पर बताया गांव की सड़क खराब है, आश्वासन के बाद भी नहीं बनी

भास्कर संवाददाता|मनेंद्रगढ़ प्रदेश की भाजपा सरकार गांव और गरीब की कितनी चिंता करती है। इस बात का अनुमान इससे...

Danik Bhaskar | Jul 21, 2018, 03:05 AM IST
भास्कर संवाददाता|मनेंद्रगढ़

प्रदेश की भाजपा सरकार गांव और गरीब की कितनी चिंता करती है। इस बात का अनुमान इससे लगाया जा सकता है कि गांव की एक महिला के मोबाइल पर स्वयं प्रदेश के मुखिया का फोन आया। उसका हाल-चाल जानने के बाद गांव में विकास कार्यों और समस्याओं के संबंध में वे जानकारी ली। गांव में पक्की सड़क की मांग किए जाने पर मुख्यमंत्री जल्दी सड़क निर्माण का भरोसा भी दिलाया। लेकिन जब आधा साल से भी ज्यादा का वक्त गुजर गया और सड़क का कोई काम नहीं हुआ। सीएम से बात होने के बाद पहले जो महिला खुश थी और लोगों को बता रही थी कि अब गांव में सड़क बनने वाली है।

ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत सिरौली से पिपरिया तक सड़क की कुल लंबाई दो किलोमीटर है। यह मार्ग सिरौली से पिपरिया होते हुए मनेंद्रगढ़ नेशनल हाईवे को जोड़ता है। सिरौली में सिद्ध संकटमोचन हनुमान मंदिर है।

मुख्यमंत्री की वादा खिलाफी से गांव के लोगों में आक्रोश है

गांव को हाईवे से जोड़ने वाली मुख्य सड़क पर नजर आ रहे गड्‌ढे।

जनदर्शन में दिया था आवेदन, निराशा हाथ लगी

सिरौली के सरपंच भागीरथी सिंह ने बताया कि सड़क बनवाने उन्होंने नवंबर 2017 में ग्राम रोकड़ा में जन समस्या निवारण शिविर में आवेदन दिया था। कलेक्टर को दिए आवेदन में पक्की सड़क बनाए जाने की मांग की गई थी, जो आज तक पूरी नहीं हो सकी है।

अनुपूरक बजट में शामिल करने प्रस्ताव भेजा था

30 मार्च 2017 को लोक निर्माण विभाग के ईई ने एसई लोनिवि अंबिकापुर को 2017-18 के अनुपूरक बजट में शामिल करने के लिए प्रस्ताव दिया था। जिसमें सड़क अनुमानित लागत 2 करोड़ 50 लाख को शामिल करने की बात थी। लेकिन बजब्ट नहीं मिला।

मुख्यमंत्री ने दिया था सड़क बनवाने का आश्वासन

सरपंच के जनदर्शन में आवेदन और लोक निर्माण विभाग की कागजी कार्रवाई के बाद सबसे खास बात ये रही कि खुद मुख्यमंत्री ने सड़क बनाने का आश्वासन दिया था। 30 दिसंबर 2017 को सिरौली वार्ड क्र. 9 निवासी 50 वर्षीया महिला हिरवंतु पति कुमान सिंह के मोबाइल पर मुख्यमंत्री का कॉल आया। जिस पर महिला के बेटे अशोक कुमार ने बात की। मुख्यमंत्री ने हाल-चाल जाना और गांव में विकास कार्य एवं समस्याओं की जानकारी ली। जिस पर अशोक ने ग्राम सिरौली से पिपरिया तक पक्की सड़क निर्माण की मांग की। मुख्यमंत्री ने शीघ्र सड़क निर्माण कराए जाने का आश्वासन दिया, लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ। अब पूरा गांव शासन से सड़क जैसी बुनियादी सुविधा की आस देख रहा है। लेकिन ये भी पूरी नहीं हो पा रही है।