--Advertisement--

मुंशी प्रेमचंद स्मृति कार्यक्रम में शामिल हुए साहित्यकार

भास्कर संवाददाता|मनेंद्रगढ़ संबोधन साहित्य एवं कला परिषद मनेंद्रगढ़ की सांस्कृतिक एवं साहित्यिक टीम मुंशी...

Dainik Bhaskar

Aug 09, 2018, 03:06 AM IST
मुंशी प्रेमचंद स्मृति कार्यक्रम में शामिल हुए साहित्यकार
भास्कर संवाददाता|मनेंद्रगढ़

संबोधन साहित्य एवं कला परिषद मनेंद्रगढ़ की सांस्कृतिक एवं साहित्यिक टीम मुंशी प्रेमचंद के 138 वें जन्मदिवस पर मनेंद्रगढ़ से लमही बनारस जाकर उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित मुंशी प्रेमचंद स्मृति आयोजन में शामिल हुई। अपने उद्देश्य के अनुरूप साहित्यकारों के इस दल ने बनारस की व्यंग्यकार डॉ. शशि मिश्रा से वर्तमान साहित्य की विधा एवं परिचय पर लंबी चर्चा की गई। छत्तीसगढ़ के चर्चित व्यंग्यकार गिरीश पंकज के सार्थक लेखन पर भी चर्चा की गई।

मुंशी प्रेमचंद के जन्मदिवस पर आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम के प्रथम दिवस आयोजित सम्मान समारोह में छत्तीसगढ़ के साहित्यकारों के इस दल का स्वागत आयोजन समिति ने किया। यह आयोजन बनारस कमिश्नर के मुख्य आतिथ्य एवं साहित्यकारों तथा सांस्कृतिक कर्मियों की उपस्थिति में हुआ, जिसमें बनारस की सांस्कृतिक धरोहर, लोकगीत बिरहा, कत्थक तथा प्रेमचंद की लिखी कहानी नमक का दरोगा सहित कई नाटकों का मंचन किया गया। जिसमें नुक्कड़ नाटकों की टीम सहित स्कूल बच्चों ने इसे संपादित किया। इसी क्रम में लमही गांव के अलग-अलग स्थानों पर उनके स्मृतियों को याद करते हुए अलग-अलग टीमों ने अपनी नाटकों की प्रस्तुतियां दी। द्वितीय दिवस बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के शोध संस्थान सभागार में नाटकों के मंचन किए गए।

मुंशी प्रेमचंद के निवास को एक संग्रहालय के स्वरूप में निर्मित कर उनके स्टेच्यू लगाकर तथा उनकी कहानियों पर केंद्रित पेंटिंग की झांकी प्रस्तुति इस कार्यक्रम का आकर्षण रही। संबोधन साहित्य कला परिषद के अध्यक्ष सतीश द्विवेदी, साहित्यकार वीरेंद्र श्रीवास्तव, जयप्रकाश सिंह संस्था सचिव एवं समीक्षक राजकुमार पांडे सहित नरेंद्र श्रीवास्तव ने इस यात्रा में कई महत्वपूर्ण स्थलों का भ्रमण किया।

बनारम में आयोजित कार्यक्रम में संबोधन साहित्य एवं कला परिषद की टीम ने संजोई स्मृति

बनारस में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने के लिए पहुंचे साहित्यकार।

X
मुंशी प्रेमचंद स्मृति कार्यक्रम में शामिल हुए साहित्यकार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..