--Advertisement--

मनेंद्रगढ़| शहर में ही एक दर्जन से अधिक सटोरिए लोगों

मनेंद्रगढ़| शहर में ही एक दर्जन से अधिक सटोरिए लोगों की गाढ़ी मेहनत की कमाई को उड़ा रहे हैं। लंबे समय बाद पुलिस ने...

Danik Bhaskar | Aug 05, 2018, 03:15 AM IST
मनेंद्रगढ़| शहर में ही एक दर्जन से अधिक सटोरिए लोगों की गाढ़ी मेहनत की कमाई को उड़ा रहे हैं। लंबे समय बाद पुलिस ने जुआ और सट्टा के खिलाफ अभियान चलाया भी तो जिन 14 आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की है, वे सिर्फ मोहरे हैं। असली आरोपियों तक पुलिस पहुंच ही नहीं रही है। मनेंद्रगढ़ व आसपास कॉलरी क्षेत्रों में सट्टा का कारोबार काफी समय से चल रहा है। कभी दिन में एक बार खिलाया जाने वाला सट्टा अब चौबीस घंटे में दो बार खिलाया जा रहा है। मनेंद्रगढ़ का ऐसा कोई इलाका नहीं बचा है जहां एक दर्जन से अधिक सटोरिए गली-कूचों में घूम-घूमकर सट्टा पट्टी न काट रहे हों। इस खेल में 1 रुपए का दांव लगाकर 80 रुपए पाने की लालच ने लोग बर्बाद हो रहे हैं। पुरुषों की देखा-सीखी अब महिलाएं और बच्चे भी सट्टा खेल रहे हैं। कुछ लोग अचूक ब्रह्मास्त्र और अन्य नामों से साप्ताहिक व मासिक सट्टा चार्ट की भी बिक्री कर रहेे हैं। शनिवार को स्थानीय पुलिस ने अवैध जुआ, सट्टा खेलने की शिकायत प्राप्त होने पर थाना क्षेत्र में 7 प्रकरण दर्ज कर 14 आरोपियों पर कार्रवाई की और उनसे 5 हजार 480 रुपए जब्त करना बता रही है। पुलिस जिन आरोपियों पर अवैध जुआ और सट्टा के जुर्म में कार्रवाई दर्शा कर अपनी पीठ थपथपा रही है वह कोई बहुत बड़ी सफलता नहीं है। सट्टे के बड़े आरोपी पुलिस की पहुंच से दूर हैं। पुलिस की उदासीनता के चलते कारोबार दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है।