Hindi News »Chhatisgarh »Manendragarh» टंकी की टेस्टिंग, इंटकवेल से पानी आना शुरू, पहले 2 अब 4 एमएलडी मिलेगा जल

टंकी की टेस्टिंग, इंटकवेल से पानी आना शुरू, पहले 2 अब 4 एमएलडी मिलेगा जल

भास्कर संवाददाता| मनेंद्रगढ़ जल आवर्धन योजना से एक माह बाद शहरवासियों को लाभ मिलने लगेगा। इस योजना के शुरू होने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 28, 2018, 03:15 AM IST

टंकी की टेस्टिंग, इंटकवेल से पानी आना शुरू, पहले 2 अब 4 एमएलडी मिलेगा जल
भास्कर संवाददाता| मनेंद्रगढ़

जल आवर्धन योजना से एक माह बाद शहरवासियों को लाभ मिलने लगेगा। इस योजना के शुरू होने से बीते कई वर्षों से शहर के जलसंकट से लोगों को निजात मिलेगी।

वर्ष 2005 में स्वीकृत हुई योजना का कार्य वर्ष 2014 तक धीमा पड़ा था, लेकिन 2015 में हुए नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस के राजकुमार केशरवानी के नगरपालिका अध्यक्ष बनने के बाद से नपाध्यक्ष की पहल पर इस योजना में काम शुरू हुआ। सबसे पहले इस योजना के तहत नया इंटकवेल चैनपुर में बनाया गया। इसके बाद हंसिया नदी पर डैम फिर नदीपार में साढ़े 6 लाख लीटर क्षमता वाली पानी टंकी का निर्माण कराया गया। इसके बाद मनेंद्रगढ़ नगरपालिका क्षेत्र के सभी वार्डों में पेयजल सप्लाई के लिए 12 किलोमीटर पाइप लाइन एवं नए इंटकवेल से ढाई किमी की रायजिंग लाइन बिछाई गई। मंगलवार को नए इंटकवेल से फिल्टर प्लांट में पानी आने का टेस्टिंग का कार्य पूरा करते ही पानी आना शुरू हो गया।

100 एचपी की लगी हैं दो मोटर, शहरवासियों के लिए लाभकारी है योजना

बता दें कि पूर्व में 2.25 एमएलडी पानी शहरवासियों को मिलता था। जबकि पूरे शहर में वर्तमान में 5 एमएलडी पानी की आवश्यकता है। अब जल आवर्धन योजना का काम लगभग पूरा होने से शहरवासियों को 4 एमएलडी पानी मिल सकेगा। वहीं गर्मी के दिनों में होने वाले जल संकट से लोगों को निजात भी मिल सकेगी। इस योजना के तहत अब इंटकवेल में 100 एचपी की दो मोटर लगाई गई हैं। जिसके माध्यम से पानी तेजी से फिल्टर प्लांट तक पहुंचेगा।

मनेंद्रगढ़ के शहरवासियों को मिलेगी के जलसंकट से निजात, मिलेगा भरपूर पानी

एक नजर में जल आवर्धन योजना

योजना की कुल राशि 18 करोड़

6 करोड़ की लागत से एनीकट ।

1.86 करोड़ की लागत से इंटकवेल ।

1.30 करोड़ की लागत से फिल्टर प्लांट ।

1.40 करोड़ की लागत से दो पानी टंकी ।

1 करोड़ की लागत से रायजिंग लाइन का निर्माण।

4 करोड़ की वार्डों में पाइप लाइन बिछाई गई।

1 करोड़ की लागत से दोनों नवनिर्मित टंकी तक पानी भेजने के लिए पाइप लाइन।

छह लाख लीटर पानी क्षमता नई टंकी

हाल ही में शहर के नदीपार इलाके में 70 लाख की लागत से साढ़े 6 लाख लीटर क्षमता वाली पानी टंकी का निर्माण होने से शहर के वार्ड क्रमांक 20, 21, 22 व वार्ड क्रमांक और 17 के वार्डवासियों को पानी फोर्स के साथ मिलने लगेगा। वहीं मौहारपारा इलाके में बनी पानी टंकी से मौहारपारा, कब्रिस्तान मोहल्ला, बदन सिंह मोहल्ला, बिजली ऑफिस के पीछे, रेलवे परिक्षेत्र में रहने वाले लोगों को भी फोर्स के साथ पानी सप्लाई किया जा सकेगा। इससे मोटर आदि के माध्यम से पानी खींचने की जरूरत नहीं होगी।

बागडोर संभालते ही पानी को दी थी पहली प्राथमिकता

जब मैंने शहर सरकार की बागडोर संभाली तब से मैने पानी के लिए काम किया। पदभार ग्रहण करने के दिन से ही जल आवर्धन योजना को पूर्ण कराना मैंने शुरू किया। अब यह योजना अपने अंतिम चरण में है। -राजकुमार केशरवानी, अध्यक्ष नपा मनेंद्रगढ़

एक टंकी से लोगों को इस तरह होती थी समस्या

गौरतलब है कि अब तक शहरवासियों को एक मात्र पानी टंकी के भरोसे पानी सप्लाई का कार्य नगरपालिका करती थी। जिसके कारण कई वार्डों में रात के समय पानी आता था। वहीं शहर के कई इलाकों में काफी कम मात्रा में व कम फोर्स के साथ पानी पहुंचता था। अब शहर में दो नई पानी टंकी व एक पुरानी टंकी को मिलाकर तीन पानी टंकी होने से शहरवासियों को दिन के समय ही जलापूर्ति की जा सकेगी वह भी अच्छे फोर्स के साथ मिलेगा।

नपा ने 6 करोड़ का लोन लिया तब मूर्त रूप ले सकी योजना

नपाध्यक्ष राजकुमार केशरवानी ने बताया कि 18 करोड़ की जल आवर्धन योजना में राज्य सरकार से 12 करोड़ रुपए एवं नगरपालिका परिषद ने शेष 6 करोड़ रुपए की राशि को लोन के रूप में लेकर यह कार्य प्रारंभ करने का बीड़ा उठाया। मनेंद्रगढ़ में पानी की समस्या को दूर करना अत्यंत आवश्यक था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Manendragarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×