Hindi News »Chhatisgarh »Manendragarh» संबोधन ने दी साहित्यकार नीरज को श्रद्धांजलि

संबोधन ने दी साहित्यकार नीरज को श्रद्धांजलि

मनेंद्रगढ़| संबोधन साहित्य एवं कला परिषद मनेंद्रगढ़ की तरफ से पद्म विभूषण से सम्मानित सुप्रसिद्ध साहित्यकार स्व....

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 26, 2018, 02:15 PM IST

मनेंद्रगढ़| संबोधन साहित्य एवं कला परिषद मनेंद्रगढ़ की तरफ से पद्म विभूषण से सम्मानित सुप्रसिद्ध साहित्यकार स्व. गोपालदास नीरज को श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान उपस्थित साहित्यकारों ने अपने विचार व्यक्त किए। व्यंग्यकार जगदीश पाठक ने कहा कि आज साहित्य आकाश का एक देदीप्यमान नक्षत्र अस्त हो गया है। उन्होंने उनके लिखे एक फिल्मी गीत लूटी जहां पालकी बहार की को याद किया। जनसंपर्क विभाग अध्यक्ष नरेंद्र अरोड़ा ने नीरज को मधुर गीतों का साहित्यकार कहा और उनके गीत लिखे जो खत तुझे, वह तेरी याद में गीत की पंक्तियां सुनाकर नीरज को याद किया। साहित्य विभागाध्यक्ष नागेंद्र जायसवाल ने कहा कि साहित्य में जो ऊंचाइयां नीरज ने पाईं वहां तक बहुत कम लोग पहुंच पाते हैं। सतीश उपाध्याय ने कहा कि वे अपने जीवन में नीरज से बहुत ज्यादा प्रभावित रहे यही कारण है कि अपने संपादन में छत्तीसगढ़ शासन के पाठ्यपुस्तकों में नीरज के गीत जीवन नहीं मरा करता है को संकलित करने एवं पाठ्यपुस्तक में लाने के लिए काफी मेहनत किया। उन्होंने कहा कि नीरज अपने गीतों के माध्यम से साहित्य के आकाश में हमेशा जिंदा रहेंगे। वीरेंद्र श्रीवास्तव ने उनके गीत का अनुशरण करते हुए उनके व्यक्तित्व को याद किया गया एवं एक स्वरचित गीत की प्रस्तुति दी गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Manendragarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×