--Advertisement--

मौसम की बेरुखी पर खेती का काम तेज

नवापारा राजिम| सप्ताहभर पूर्व बारिश नहीं होने से चिंतित किसानों को पिछले तीन दिनों से रुक-रुक कर हुई बारिश ने...

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2018, 03:00 AM IST
मौसम की बेरुखी पर खेती का काम तेज
नवापारा राजिम| सप्ताहभर पूर्व बारिश नहीं होने से चिंतित किसानों को पिछले तीन दिनों से रुक-रुक कर हुई बारिश ने संजीवनी की तरह राहत दी है। स्वसिंचित किसान रोपा और ब्यासी तक पहुंच गए, वहीं बारिश पर निर्भर किसानों ने भी खेतों की ओर रुख किया है।

चंपारण, लखना खार में स्वसिंचित रकबे के किसान शोभाराम साहू ने बताया कि नर्सरी की तरह धान के पौधे विकसित कर उन्हें कतारबद्ध खेतों में रोपाई शुरू कर दी गई है। अभनपुर ब्लॉक में 38 हजार हेक्टेयर में से लगभग 25 हजार एकड़ स्वसिंचित रकबा है। इसी औसत में पड़ोस के फिंगेश्वर और मगरलोड ब्लॉक में भी जहां लगभग यही औसत है। मौसम के तेवर और रोज छाई घटाओं से किसान आशान्वित हैं। इस वर्ष क्षेत्र में पारंपरिक फसल जौ, दलहन और तिलहन की बुआई की जानकारी नहीं है।

नवापारा राजिम - नर्सरी में धान के पौधों का बीड़ा बनते हुए मजदूर।

X
मौसम की बेरुखी पर खेती का काम तेज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..