Hindi News »Chhatisgarh »Nayapararajim» रामचरित मानस संजीवनी, इसे पढ़ने-सुनने से जीवन संवरता है : पं. देवेंद्र

रामचरित मानस संजीवनी, इसे पढ़ने-सुनने से जीवन संवरता है : पं. देवेंद्र

रामायण लिख कर गोस्वामी तुलसीदास जी ने जनमानस में एक ऐसी संजीवन बूटी को लाकर रख दिया है, जिसे पढ़ने व सुनने तथा मनन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 11, 2018, 03:05 AM IST

रामचरित मानस संजीवनी, इसे पढ़ने-सुनने से जीवन संवरता है : पं. देवेंद्र
रामायण लिख कर गोस्वामी तुलसीदास जी ने जनमानस में एक ऐसी संजीवन बूटी को लाकर रख दिया है, जिसे पढ़ने व सुनने तथा मनन करने से जीवन संवर जाता है। वहीं रामायण जीने की कला भी सिखाती है। ज्ञान गंगा और जल गंगा दो प्रकार की होती है। यहां मानस रूपी गंगा प्रवाहित है, जिसमें स्नान करने से व्यक्ति पवित्रता महसूस करते है तथा सुनकर नवधा भक्ति प्राप्त किया जा सकता है।

उक्त विचार चौबेबांधा में आयोजित राज्य स्तरीय रामचरित्र मानस सम्मेलन के शुभारंभ पर मुख्य अतिथि भगवताचार्य पं. देवेंद्र तिवारी ने कही। उन्होंने कहा कि रामायण धर्म के रास्ते पर चलने का मार्ग दिखाता है। राम नाम रटने से जीवन पवित्र हो जाता है। रामायण सत्संग रूपी गंगा है, मन वैराग्य होने पर भक्ति मिलती है और दोनों के मेल से राम के दर्शन होते हैं। इस मौके पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सेवक भाई श्रीवास ने कहा कि तन, मन और कर्म से ईश्वर को प्राप्त किया जा सकता है। कथा सुनकर इंसान अपने जीवन को सुधार सकता है। अहंकार हमारा शत्रु है, इससे बचना बहुत जरूरी है। उन्होंने लोगों को राम कथा सुनने के लिए भी प्रेरित किया। जनपद पंचायत फिंगेश्वर के सभापति हुकुमचंद सोनकर ने कहा कि रामायण में राम के चरित्र को जीवन में उतार कर सार्थक बनाया जा सकता है। विशिष्ट अतिथि सरपंच इंदिरा ध्रुव ने लोगों को अधिक संख्या में उपस्थित होकर राम कथा सुनने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम में श्री राम दरबार मानस मंडली के अध्यक्ष बरत राम साहू, नरेश कुमार पाल, चमन साहू, बिसहत राम साहू, गुलाब शर्मा, नकछेड़ा राम साहू, गणेश ध्रुव, नेहरू श्रीवास, हेमंत सोनकर, दुर्गेश साहू, नेमीचंद पाल, तेज ध्रुव, किसलाल साहू, लतेल सोनकर, गणेश साहू सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। संचालन संतोष कुमार सोनकर मंडल एवं आभार प्रकट पूनउ राम पटेल ने किया।

सत्संग

चौबेबांधा में राज्य स्तरीय रामायण सम्मेलन शुरू, गोधूलि बेला में कलश यात्रा निकाली, शुभारंभ पर मुख्य अतिथि भगवताचार्य पं. देवेंद्र तिवारी ने दिए प्रवचन

कलश यात्रा निकाल गांव का भ्रमण

शुभारंभ अवसर पर गोधूलि बेला में कलश यात्रा निकाली गई, जो पूरे ग्राम का भ्रमण कर मां शीतला के दरबार पहुंची। शीतला माता की पूजा के बाद वापस मंच स्थल पहुंची। तत्पश्चात दीप जलाकर कर भगवान रामचंद्र जी की पूजा कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। सुंदरकांड का पाठ भी किया गया। इस मौके पर मंच पर वरिष्ठ ग्रामीण जैतराम साहू, समारू राम पटेल, पूर्व सरपंच सिंधौरी निर्भय राम साहू, विशंभर पटेल, वार्ड पंच देव कुमार साहू उपस्थित थे। सभी अतिथियों का फूल मालाओं से स्वागत किया गया। गुंजेश्वरी, डिंपल वाणी, यीशु हर्षिता सोनकर ने स्वागत गीत की प्रस्तुति दी। दीपक श्रीवास ने देवी भजनों पर तालियां बटोरी।

राजिम. रामचरितमानस शुभारंभ अवसर पर गोधूलि बेला में कलश यात्रा पूरे ग्राम का भ्रमण कर मां शीतला के दरबार पहुंची।

India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Nayapararajim News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: रामचरित मानस संजीवनी, इसे पढ़ने-सुनने से जीवन संवरता है : पं. देवेंद्र
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Nayapararajim

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×