• Home
  • Chhattisgarh News
  • Nayapararajim
  • ग्रहण के कारण बंद हो गए थे मंदिरों के कपाट, रातभर किया मंत्रों का जाप
--Advertisement--

ग्रहण के कारण बंद हो गए थे मंदिरों के कपाट, रातभर किया मंत्रों का जाप

राजिम| शुक्रवार को आषाढ़ मास के गुरु पूर्णिमा को चंद्र ग्रहण निर्धारित समय मध्य रात्रि 11.54 बजे प्रारंभ हुआ। जो...

Danik Bhaskar | Jul 29, 2018, 03:05 AM IST
राजिम| शुक्रवार को आषाढ़ मास के गुरु पूर्णिमा को चंद्र ग्रहण निर्धारित समय मध्य रात्रि 11.54 बजे प्रारंभ हुआ। जो रात्रि 3.50 बजे ग्रहण का मोक्ष हुआ। इस लंबी अवधि के चंद्रग्रहण कुल 3 घंटे 54 मिनट तक रहा। चंद्र ग्रहण को देखने लोगों में कौतूहल बना रहा। लेकिन आकाश में बदली छाई हुई थी, इस वजह से स्पष्ट रूप से चंद्रग्रहण नहीं देखा जा सका। चंद्र ग्रहण लगने के 9 घंटे पहले शुक्रवार को दोपहर 2.54 बजे सूतक लग गया था। इसके पूर्व नगर सहित ग्रामीण अंचलों के मंदिरों में पट बंद हो गया। पट बंद करने के पूर्व पंडितों द्वारा मंत्र उपचार के साथ भगवान की पूजा अर्चना की गई। नगर के राजीव लोचन मंदिर, कुलेश्वर नाथ महादेव मंदिर, बाबा गरीब नाथ महादेव, दत्तात्रेय, सोमेश्वर नाथ, इत्यादि मंदिरों के पट पूजा अर्चना पश्चात बंद कर दिए गए। वहीं आज गुरु पूर्णिमा पर्व पर नगर सहित ग्रामीण अंचलों में अनेक स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए गए थे, जो सूतक लगने के पूर्व दोपहर 2.30 बजे तक कार्यक्रम का समापन कर दिया गया।