• Home
  • Chhattisgarh News
  • Nayapararajim
  • घटारानी में हुए हादसे का वीडियो व्हाट्सएप पर देख पहुंची पुलिस
--Advertisement--

घटारानी में हुए हादसे का वीडियो व्हाट्सएप पर देख पहुंची पुलिस

कौंदकेरा/कोपरा नवापारा/िफंगेश्वर| सेल्फी के शौक में एक युवक अपने हाथ पैर तुड़वा बैठा। घटना अंचल के प्रसिद्ध...

Danik Bhaskar | Jul 30, 2018, 03:10 AM IST
कौंदकेरा/कोपरा नवापारा/िफंगेश्वर| सेल्फी के शौक में एक युवक अपने हाथ पैर तुड़वा बैठा। घटना अंचल के प्रसिद्ध घटारानी जलप्रपात की है। जहां इन दिनों पहाड़ से होकर पानी 50 फीट नीचे गिरता है। इस स्थान पर दोस्तों के साथ शनिवार को तफरीह करने पहुंचे अभनपुर ब्लाक के ग्राम सारखी कोलर निवासी 20 साल का युवक गजेंद्र तारक पिता बिसेलाल तारक ने दुस्साहस दिखाते हुए गिरते पानी में खड़े होकर सेल्फी खींचने लगा, तभी चिकानाई के कारण पैर फिसल गया और वह 50 फीट नीचे गिर पड़ा।

कुछ लोग मोबाइल से फोटो खींच रहे थे, इस दौरान युवक की झरने से नीचे गिरने का लाइव वीडियो भी कैमरे में कैद हो गया। युवक के गिरते ही आनन-फानन दोस्त उसे अस्पताल लेकर भागे, जहां से मेकाहारा भेज दिया है। हादसे की वीडियो को व्हाट्सएप पर देख पलिस पहुंची। इधर डॉक्टरों ने जांच के बाद हाथ, पैर टूटना बताया है। चाचा रामकुमार धीवर ने बताया कि उसकी हालत अब सामान्य है।

कौंदकेरा कोपरा. सेल्फी खींचता युवक झरने से गिरा,कमर टूटी।

सुरक्षा के लिए रैलिंग व बड़े सूचना बोर्ड लगना चाहिए

पहाड़ी क्षेत्र खूबसूरत झरनों के लिए प्रसिद्ध है। इनमें सबसे खूबसूरत झरना घटारानी का है। समीप ही वनदेवी के रूप में मां दुर्गा का मंदिर है, जिसके लिए समिति भी गठित है, लेकिन यहां व्यवस्था या सुविधाओं के नाम पर शून्य है। इस स्थान पर बड़े सूचना बोर्ड और रैलिंग भी लगना चाहिए। भीड़ वाले दिनों में पुलिस प्रशासन एक-दो कर्मियों को यहां भेजकर खानापूर्ति कर लेता है। फिंगेश्वर थाना से पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था सिर्फ रविवार को रहती है। जबकि घटारानी में जुलाई और अगस्त में सैलानियों की भीड़ ज्यादा रहती है। ऐसे में थाना प्रभारी द्वारा प्रतिदिन सुरक्षा दी जाना चाहिए।

पिछले साल भी हुआ था हादसा

पर्यटकों को डेंजर जोन में सेल्फी न लेने की हिदायत

वायरल वीडियो को देख फिंगेश्वर पुलिस स्टाफ के साथ मौके पर पहुंची। जहां पर्यटकों से डेंजर जोन में सेल्फी नहीं लेने की सख्त हिदायत दी है। इधर घटना के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस से मांग की है कि लोगों को इस तरह के जोखिम उठाने से रोकने के लिए पुलिसकर्मी की नियमित ड्यूटी लगाई जाए।

पिछले साल भी बरसात के मौसम में सेल्फी लेते हुए एक व्यक्ति गिर गया था, जिसकी अस्पताल मे मौत हो गई थी।