--Advertisement--

जैन संतों की आगवानी के लिए उमड़े िजलेभर के श्रद्धालु

बुधवार की सुबह नगर का प्रवेश द्वार जियो और जीने दो और जैनम् जयति शासनम के उदघोश से गूंज उठा। प्रसंग था चातुर्मास के...

Danik Bhaskar | Jul 26, 2018, 02:15 PM IST
बुधवार की सुबह नगर का प्रवेश द्वार जियो और जीने दो और जैनम् जयति शासनम के उदघोश से गूंज उठा। प्रसंग था चातुर्मास के लिए आध्यात्मयोगी पूज्य महेन्द्रसागर मसा के शिष्य ऋशभसागर के साथ ऋजुप्रष सागर व विनम्रसागर मसा के स्वागत का। इसके लिए नगर के सदर रोड एवं गांधी चौक स्थित जैन मंदिर में भव्य तैयारियां की गईं।

जयघोष के साथ शोभायात्रा सदर रोड होते हुए जैन मंदिर पहुंची। पूरे मार्ग पर पंचरंगी धर्म ध्वजा, तोरण एवं रंगोली से सड़क को सतरंगी कर दिया था। कई स्थानों पर गुरू भगवंतों का श्रीफल,अक्षत सहित आरती उतारकर स्वागत किया। जैन ध्वज लहराते घोड़ों पर सवार पांरपरिक पोषाक में नन्हें बालक, ढोलपार्टी, नृतक दल, गुरुवंदना की प्रस्तुति करते, भक्तिमंडल के सदस्यों ने स्वागत की शानदार प्रस्तुति दी। इस यात्रा में संघ प्रमुख अशोक बोथरा, पालिका अध्यक्ष विजय गोयल एवं पालिका सदस्य के अलावा पारस गोलछा, स्वरूप टाटिया, अशोक गोलछा, प्रदीप भांसली, प्रिंस पारख, संजय बांगानी, संदीप पारख, संतोश बंसत झाबक, संजय सिघंई, राजेन्द्र गदिया, संतोश पारख, संतोश बोथरा, कमल झाबक ,इस यात्रा की कमान विहार ग्रुप ने संभाल रखी थी। यात्रा के मध्य गुरू भगवंतों ने स्थानीय दिगंबर जैन मंदिर में प्रभु शांतिनाथ के दर्शन किये।

नवापारा राजिम. चातुर्मास हेतु पहुंचे संतवृंद की शोभायात्रा

आत्म निरीक्षण ही चातुर्मास है, आत्मचिंतन अवश्य करें

आत्म निरीक्षण चातुर्मास है। आत्मचिंतन अवश्य करें मै कौन हूं ?,कहां से आया हूं? मेरा लक्ष्य क्या है? बाजार में तेजी मंदी आये तो हम अपनी दुकान की तरफ देखते है,इसी तरह पर को छोड़कर स्वयं के भीतर आत्म निरीक्षण करना चाहिए। ऋजुसागर, विनम्रसागर ने भी चातुर्मास प्रवेश की व्याख्या की। इस आयोजन में रायपुर, महासमुंद, डौडींलोहारा, खैरागढ़, पंडरिया, अभनपुर, फिंगेश्वर से भी श्रद्धालु आए हुए थे। अंत में धर्मसभा में उपस्थित पूज्य विनम्र सागर मसा के सांसारिक पिता माता एवं भाई ने भी बहुमान बढ़ाया। बुधवार को नवकारसी का लाभ आनंदकुमार छल्लानी व स्वामी वात्सल्य का लाभ श्रीसंघ नवापारा नगर ने लिया। चातुर्मास गुरुवार आषाढ़ सुदी 14 को प्रारंभ हो रहा है।