--Advertisement--

डॉक्टर दीदी के नाम से से फेमस हैं दोनों , रोजाना 10 Km चल गांवों में पहुंचाती हैं दवाएं

4 हजार की आबादी तक हेल्थ सर्विस पहुंचाती हैं। ये सात साल से इस इलाके में काम कर रही हैं।

Dainik Bhaskar

Mar 09, 2018, 04:09 AM IST
डॉक्टर दीदी के नाम से फेमस एएनएम सुनीता ठाकुर डॉक्टर दीदी के नाम से फेमस एएनएम सुनीता ठाकुर

दंतेवाड़ा (बिलासपुर/छत्तीसगढ़). डॉक्टर दीदी के नाम से फेमस एएनएम सुनीता ठाकुर ऐसी महिला कर्मचारी हैं जो नदी पार के 4 गांवों की करीब 4 हजार की आबादी तक हेल्थ सर्विस पहुंचाती हैं। ये 7 साल से इस इलाके में काम कर रही हैं। 10 महीने से इस कठिन सफर में संतकुमारी भी साथी बनी हैं। संतकुमारी राणा संविदा पर सहायक एएनएम के तौर पर काम कर रही हैं। दोनों खुद डोंगी (छोटी नाव) चलाकर इंद्रावती नदी पार करती हैं। फिर घने-जंगल, छोटी पहाड़ियां, बरसाती नाले पार कर 12 किमी का पैदल सफर गांव तक दवाएं पहुंचाती हैं। नक्सली बना चुके हैं बंधक...

- 2012 में सुनीता नदी पार के चेरपाल गांव में सब सेंटर पर तैनात थीं।

- यहां स्मार्ट कार्ड बनाने का काम चल रहा था। इसी वक्त यहां नक्सली आ धमके, सबको देर शाम तक बंधक बनाकर रखा।

- सुनीता उस वक्त घबराईं जरूर लेकिन गांवों की दशा, गांव वालों का प्रेम देखकर काम जारी रखा।

मुचनार के लिए 14 किमी का सफर
- सुनीता दंतेवाड़ा जिले के बारसूर इलाके से 14 किलोमीटर स्कूटी चलाकर मुचनार घाट पहुंचती हैं। यहां 7 मीटर लंबी व ढाई मीटर चौड़ी डोंगी से नदी पार करती थी।

- पहले नाविकों के इंतजार में कई बार दिन भी बीत जाता था। ऐसे में उन्होंने खुद ही डोंगी चलाना सीख लिया।

सुनीता ठाकुर हेल्थ मिनिस्टरी की ऐसी महिला कर्मचारी हैं जो नदी पार के चार गांवों की करीब 4 हजार की आबादी तक हेल्थ सर्विस पहुंचाती हैं। सुनीता ठाकुर हेल्थ मिनिस्टरी की ऐसी महिला कर्मचारी हैं जो नदी पार के चार गांवों की करीब 4 हजार की आबादी तक हेल्थ सर्विस पहुंचाती हैं।
सुनीता ठाकुर और उनकी सहायिका संतकुमारी राणा। सुनीता ठाकुर और उनकी सहायिका संतकुमारी राणा।
X
डॉक्टर दीदी के नाम से फेमस एएनएम सुनीता ठाकुरडॉक्टर दीदी के नाम से फेमस एएनएम सुनीता ठाकुर
सुनीता ठाकुर हेल्थ मिनिस्टरी की ऐसी महिला कर्मचारी हैं जो नदी पार के चार गांवों की करीब 4 हजार की आबादी तक हेल्थ सर्विस पहुंचाती हैं।सुनीता ठाकुर हेल्थ मिनिस्टरी की ऐसी महिला कर्मचारी हैं जो नदी पार के चार गांवों की करीब 4 हजार की आबादी तक हेल्थ सर्विस पहुंचाती हैं।
सुनीता ठाकुर और उनकी सहायिका संतकुमारी राणा।सुनीता ठाकुर और उनकी सहायिका संतकुमारी राणा।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..