--Advertisement--

गीतानगर की शॉप में कॉपी की गई हजार सीडी लाजपत मार्केट की दुकान तो ढाई साल से बंद

सीडी मामले में चर्चित दिल्ली के कारोबारी ईशू नारंग से भास्कर की बातचीत।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 06:56 AM IST
Bhaskar conversation with Delhi businessman Ishu Narang discussed in CD case

रायपुर। मंत्री मूणत के कथित सीडी मामले में दिल्ली के लाजपत मार्केट की शॉप से सीडी कॉपी होने की चर्चाएं गलत साबित हुई हैं। भास्कर टीम ने सीडी कॉपी करने वाले दुकान ईशू नारंग को ढूंढ लिया और बातचीत की तो उसने खुलासा किया कि सीडी की कॉपी लाजपत मार्केट नहीं, बल्कि गीतानगर की सुपर टोन डिजिटल शॉप से करवाई गई थी।जिस दुकान की बात प्रचारित है, उसे ढाई साल पहले बंद किया जा चुका था और सीडी कॉपी करने तथा वीडियो मिक्सिंग का कारोबार गीतानगर की दुकान से ही चल रहा था।

- शॉप में सीडी कॉपी करने या वीडियो एलबम बनाने का आर्डर ऑनलाइन भी लिया जा रहा है, लेकिन नारंग ने कहा कि हजार सीडी कॉपी करने का आर्डर एक व्यक्ति ने दिया था। उसने कई बार सिर्फ फोन पर बात की, बल्कि सीडी लेकर खुद पहुंचा था।

- नारंग के कॉल डीटेल और सुपरटोन डिजिटल शॉप के वीडियो फुटेज पुलिस ने निकाल लिए हैं। दावा किया जा रहा है कि कॉल डीटेल और सीसीटीवी फुटेज इस मामले में सबसे बड़ा सबूत बनने जा रहे हैं कि सीडी कॉपी करवाने के लिए कौन गया था और किन लोगों ने कॉपियां हासिल की हैं।

- प्रकाश बजाज की पंडरी थाने में एफआईआर के मुताबिक पुलिस के लाजपत मार्केट की सीडी शॉप में ही छापा मारने की बात आई थी और अब तक इस मामले में यही प्रचारित है। लेकिन अब खुलासा हुआ है कि क्राइम ब्रांच की टीमें लाजपत मार्केट पहुंचीं तो दुकान बंद मिली थी।

- आसपास के लोगों ने बताया था कि दो-ढाई साल पहले यह दुकान बंद हो चुकी है और मालिक इसी नाम से गीतानगर में दुकान चला रहा है। इसके बाद पुलिस ने गीतानगर में छापा मारा, लेकिन अब तक किसी को भनक नहीं लगने दी गई कि वीडियो मिक्सिंग के उपकरण तथा दूसरे सबूत कहां से जब्त किए गए।

- दुकान के संचालक ईशू नारंग के बारे में भी प्रदेश में किसी को पुख्ता सूचना नहीं थी। केवल पुलिस डायरी में इस बात का जिक्र है कि ईशू नारंग को सरकारी गवाह बनाया जा रहा है। भास्कर टीम ने उसका नंबर (यहां नहीं बताया जा रहा है) हासिल किया और मंगलवार को शाम 5.30 बजे फोन किया।

- नारंग ने फोन रिसीव किया, लेकिन संक्षिप्त बातचीत के बाद डिसकनेक्ट कर दिया। इसके बाद उसने कॉल रिसीव नहीं की। लेकिन संक्षिप्त बातचीत में ही उसने सीडी की कॉपी करवाने वाले व्यक्ति और उसे लगातार कॉल करने वाले व्यक्ति की तरफ इशारा किया। उसने यही बताया कि नाम और नंबर पुलिस को दे दिए हैं। कॉल रिकार्ड में भी सब कुछ दर्ज है।
सुपर टोन डिजिटल नेट पर, लेकिन पता अब भी लाजपत मार्केट
- भास्कर टीम ने नेट पर सुपरटोन डिजिटल को सर्च किया। इस शॉप का पता अब भी लाजपत मार्केट दर्ज है। नारंग ने बताया कि इस शॉप में सीडी की कॉपी से लेकर वीडियो मिक्सिंग और एडिटिंग का काम भी किया जा रहा है।

- वीडियो मिक्सिंग भी करते हैं, फिल्मों और एलबम के लिए भी सीडी बनवाई जाती है। यह शॉप ऑनलाइन काम भी ले रही है, लेकिन छत्तीसगढ़ की सीडी कॉपी करने का काम बाय हैंड लिया गया था।

- क्राइम ब्रांच ने इसी दुकान से कंप्यूटर, सीडी राइटर, वीडियो फुटेज समेत कई डिवाइस जब्त किए हैं। दो मोबाइल फोन जब्त किए गए हैं, जिनके डायल्ड कॉल की हिस्ट्री में छत्तीसगढ़ के दो नंबर एक से ज्यादा बार हैं।
वीडियो में मंत्री का चेहरा जिस स्टूडियो में फिट हुआ, उसके भी संकेत
- पुलिस के पास पिछले 10 दिन से इस मामले में कई चौंकाने वाले सबूत हैं, इसकी जबर्दस्त चर्चा है। यह मामला उच्चस्तर से हैंडल हो रहा है, इसलिए पुलिस ने अपनी तमाम जांच में जबर्दस्त गोपनीयता रखी है।

- लेकिन पता चला है कि पुलिस को 7 दिन पहले ही उस व्यक्ति और स्टूडियो के संकेत मिल गए हैं, जहां 13 मिनट के पोर्न वीडियो में से 58 सेकंड के चार क्लिप निकालकर उसमें मंत्री का चेहरा लगा दिया गया। सूत्रों का यह भी दावा है कि अगले कुछ दिन में एसआईटी प्रदेश के चर्चित सीडी कांड में बेहद चौंकाने वाले खुलासे और नामों को उजागर कर सकती है।
वर्मा के बाद भाटिया को घेर रही पुलिस
- सीडीकांड में पत्रकार विनोद वर्मा को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस पिछले एक हफ्ते से कॉल डीटेल और वीडियो फूटेज के आधार पर भिलाई के कारोबारी विजय भाटिया को घेर रही है। भाटिया को पीसीसी चीफ भूपेश बघेल का करीबी माना जाता है।

- अब तक चर्चा थी कि भाटिया भी दिल्ली से 500 सीडी लेकर यहां आया था, लेकिन इस मामले में जांच एजेंसियां यानी क्राइम ब्रांच और एसआईटी खामोश बनी हुई हैं। अब भाटिया ने हाईकोर्ट में जमानत अर्जी लगा दी है। इसके अलावा सीडी बांटने के मामले में भिलाई के एक कांग्रेस नेता की तरफ भी पुलिस बढ़ रही है।
एक नहीं, दो लोगों ने करवाई कॉपी
- दुकान के आधा दर्जन वीडियो फूटेज नारंग ने पुलिस को दिए हैं। इनमें दो व्यक्ति नजर रहे हैं, जिनके बारे में नारंग ने पुलिस को बताया है कि यही लोग छत्तीसगढ़ वाली सीडी की कॉपी करवाने और उसे लेने पहुंचे थे। उसने पुलिस को यह भी बताया कि दोनों सीडी के अलग-अलग पार्सल उसकी दुकान से ले गए हैं।

- नारंग से बातचीत के बाद भास्कर टीम ने इस बारे में रायपुर पुलिस से लेकर एसआईटी तक के आला अफसरों से बातचीत की कोशिश की, लेकिन उन्होंने इस बारे में कुछ भी बताने में असमर्थता जता दी और कहा कि सारे तथ्य कोर्ट में पेश किए जाएंगे।
सीबीआई के लिए सबूत जुटा रही पुलिस
- सीबीआई ने अभी इस मामले में केस रजिस्टर नहीं किया है, इसलिए खुली जांच शुरू नहीं की है। लेकिन बताया जा रहा है कि जांच में सीबीआई अफसरों से ही तकनीकी टिप लिए जा रहे हैं, ताकि जब केंद्रीय एजेंसी एफआईआर के बाद जांच शुरू करे तो उन्हें सारे सबूत सौंपे जाएं।

- प्रद्युम्न हत्याकांड में सीबीआई ने पुलिस को पूरी थ्योरी को धराशायी करते हुए स्कूली छात्र को गिरफ्तार किया है। इसलिए आला अफसरों ने तय किया है कि पुलिस ऐसी कोई भी थ्योरी खुद नहीं बनाएगी, जिसे सीबीआई बाद में धराशायी कर दे। इसीलिए सीबीआई अफसरों से टिप लिए जा रहे हैं।

X
Bhaskar conversation with Delhi businessman Ishu Narang discussed in CD case

Recommended

Click to listen..