--Advertisement--

यहां संतरी की ड्यूटी करती मिली 12 साल की बच्ची, जबरन उठा ले गए थे नक्सली

नारायणपुर पुलिस ने एक ऑपरेशन के दौरान नक्सलियों के लिए संतरी ड्यूटी करते हुए दो लोगों को पकड़ा है।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 07:57 AM IST

जगदलपुर. नारायणपुर पुलिस ने एक ऑपरेशन के दौरान नक्सलियों के लिए संतरी ड्यूटी करते हुए दो लोगों को पकड़ा है। इनमे से एक बालिका की उम्र तो महज 12 साल की है और वह नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ की निवासी है। नक्सली कुछ समय पहले उसे जबरन घर से उठाकर ले गए थे।


इसके बाद जब लड़की भागकर गांव आ गई तो नक्सली उसे दोबारा अपने साथ ले गए और उसके माता-पिता को धमकी दी कि वे अगर गांव में रहना चाहते हैं तो अपना मुंह बंद रखें। उपरोक्त बातें शुक्रवार को पुलिस काेर्डिनेशन सेंटर में आयोजित पत्रवार्ता में आईजी विवेकानंद सिन्हा ने कही।


इस पत्रवार्ता की खास बात यह थी इसमें शामिल होने के लिए कांकेर डीआईजी रतनलाल डांगी, बस्तर एसपी आरिफ शेख, नारायणपुर एसपी संतोष सिंह भी पहुंचे हुए थे। अफसरों ने संयुक्त रूप से इस मामले में पत्रवार्ता ली। नक्सलियों की गतिविधियों के बारे में जानकारी देते हुए अफसरों ने बताया कि नक्सली अपना संगठन चलाने के लिए बच्चों का सहारा ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि जंगल में जिस नाबालिग को पकड़ा गया है उसे भी नक्सली जबरन अपने साथ ले गए थे। बच्ची ने अफसरों को बताया कि उसकी उम्र के करीब पांच-छह बच्चे और नक्सलियों के कब्जे में हैं। उनसे भी नक्सली इस तरह का काम करवा रहे हैं।

रेस्क्यू के लिए कर रहे काम
आईजी विवेकानंद सिन्हा ने बताया कि बच्चों के रेस्क्यू के लिए लगातार प्रयास जारी है। उन्होंने कहा कि सोशल पुलिसिंग के जरिए लोगों से अपील की जा रही है कि यदि किसी के बच्चे को नक्सली अपने साथ ले गए हैं तो वह इसकी सूचना पुलिस को दे और संभव हो तो हम तक बच्चों को पहुंचा दे हम बच्चों को दिगर स्थान पर भेजकर पढ़ने की व्यवस्था करेंगे। इसके अलावा उन्होंने कहा कि रेस्क्यू के लिए कई अन्य प्लानिंग पर भी काम की जा रही है। इसके तहत गांवों से गायब बच्चों की जानकारी के लिए एक डाटा बैंक भी तैयार करवाया जा रहा है।