--Advertisement--

10 जिलों में अब टैंकर नहीं, अंडरग्राउंड पाइप के जरिए पहुंचेगा पेट्रोल-डीजल

प्रदेश में अब पेट्रोल-डीजल की सप्लाई अंडर ग्राउंड पाइप लाइन से करने की शुरुआत हो गई।

Dainik Bhaskar

Nov 30, 2017, 05:44 AM IST
केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प् केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्

रायपुर/कोरबा. प्रदेश में अब पेट्रोल-डीजल की सप्लाई अंडर ग्राउंड पाइप लाइन से करने की शुरुआत हो गई। पारादीप से रायपुर होते हुए रांची तक एक हजार 73 किलोमीटर लम्बी पाइपलाइन के द्वारा डीजल-पेट्रोल की सप्लाई होगी। केंद्रीय पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस और कौशल विकास मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने इसकी शुरुआत की। केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण परियोजना के तहत पारादीप-रायपुर-रांची पेट्रोलियम पाइपलाइन, रायपुर और कोरबा के लिए ऑयल टर्मिनल और ओडिशा के झारसुगड़ा तथा संवर्धित जटनी ऑयल टर्मिनल सहित झारखंड के लिए रांची में निर्मित ऑयल टर्मिनल का भी लोकार्पण किया।


प्रधान व सिंह ने कोरबा एलपीजी बॉटलिंग प्लांट का शिलान्यास भी किया। डॉ. सिंह ने कहा है कि छह महीने के भीतर राज्य के सभी पारो-टोलों और मुहल्लों का शत-प्रतिशत विद्युतीकरण हो जाएगा। हर घर में बिजली पहुंचाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने बुधवार को गोपालपुर (जिला कोरबा) में समारोह में ये बातें कहीं। पेट्रोलियम मंत्री प्रधान ने कहा कि हम सबकी दिन-प्रतिदिन की जिंदगी में डीजल, पेट्रोल और केरोसिन जरूरत की वस्तु बन गई है। केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर देश में सड़क, रेल और हवाई यातायात कनेक्टिविटी बढ़ाने का हर संभव प्रयास कर रही हैं। मुख्यमंत्री और केन्द्रीय मंत्री के हाथों कोरबा जिले के गोपालपुर में बुधवार को लोकार्पित इंडियन आयल टर्मिनल का निर्माण 219 करोड़ रुपए की लागत से किया है। समारोह में सांसद डॉ. बंशीलाल महतो, नगरीय विकास और जिले के प्रभारी मंत्री अमर अग्रवाल, संसदीय सचिव लखन लाल देवांगन, विधायक कोरबा जयसिंह अग्रवाल तथा महापौर कोरबा रेणु अग्रवाल शामिल हुईं।

ऐतिहासिक दिन : रमन
डॉ. सिंह ने समारोह में कहा कि आज का दिन कोरबा जिले के निवासियों के लिए ऐतिहासिक दिन है। भूमिगत पाइप लाइन के जरिए पेट्रोल और डीजल की आपूर्ति कोरबा जिले से होने लगेगी। इससे कोरबा जिले के आस-पास के छह-सात जिलों को इसका लाभ मिलेगा। पहले रेल एवं सड़क परिवहन के जरिए पेट्रोलियम पदार्थों की आपूर्ति की जाती थी। भूमिगत पाइप लाइन के जरिये अब बिना किसी बाधा के इसकी आपूर्ति की जा सकेगी।

कच्चे तेल से बनाते हैं डीजल-पेट्रोल
ओडिशा के पारादीप में दो साल पहले अत्याधुनिक रिफाइनरी का लोकार्पण हुआ था। इंडियन आयल काॅर्पोरेशन द्वारा यूएसए से सस्ते दामों में कच्चा तेल आयात कर तेल शोधक संयंत्र के जरिये पेट्रोल और डीजल बनाया जाता है। झारखंड, ओडिशा एवं छत्तीसगढ़ खनिज संपदा से परिपूर्ण राज्य हैं। कोरबा एक औद्योगिक जिला है। खनिज संपदा से भरपूर तीनों राज्यों को विकास की नई दिशा मिलेगी।

इन 10 जिलों में होगी सप्लाई
- रायगढ़, कोरबा, जांजगीर-चांपा, बिलासपुर, मुंगेली, सूरजपुर, जशपुर, सरगुजा, बलरामपुर और कोरिया।
- इन जिलों के 240 खुदरा केन्द्रों एवं 50 थोक खरीदारों को डीजल, पेट्रोल आपूर्ति होगी।
- इस टर्मिनल में पारादीप-रांची-रायपुर पाइप लाइन से साल भर पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति होगी।

ये फायदे होंगे
- भूमिगत पाइपलाइन से राज्यों में पेट्रोलियम पदार्थों की आपूर्ति के नेटवर्क विकसित होंगे।

- इन पेट्रोलियम पदार्थों के परिवहन का सबसे सुरक्षित और भरोसेमंद साधन।

- लोगों को आसानी से पेट्रोलियम पदार्थ उपलब्ध होगा।

- इस तकनीक से पेट्रोलियम पदार्थों के परिवहन में खर्च भी कम आएगा।

X
केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..