Hindi News »Chhatisgarh »Palari» रैली निकाली, छात्रों और नगरवासियों ने वीर सपूत युगल को दी श्रद्धांजलि

रैली निकाली, छात्रों और नगरवासियों ने वीर सपूत युगल को दी श्रद्धांजलि

नगर के वीर सपूत शहीद युगल किशोर वर्मा का शहादत दिवस सोमवार को नगर के गणमान्य नागरिक, स्कूली बच्चों ने मनाया। इस...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 07, 2018, 03:20 AM IST

रैली निकाली, छात्रों और नगरवासियों ने वीर सपूत युगल को दी श्रद्धांजलि
नगर के वीर सपूत शहीद युगल किशोर वर्मा का शहादत दिवस सोमवार को नगर के गणमान्य नागरिक, स्कूली बच्चों ने मनाया। इस दौरान सभी ने शहीद के नाम का जय घोष करते हुए बाजार रोड से रायपुर रोड, थाना रोड से रेस्ट हॉउस तक रैली निकाली। बस स्टैंड स्थित भगत सिंह चौक पर एकत्र होकर सभी ने शहीद के छाया चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। वहीं सालभर बीत जाने के बाद भी विधानसभा अध्यक्ष के निर्देश की अवहेलना के कारण शहीद की प्रतिमा नगर में अब तक नहीं लग पाई है।

पिछले साल 6 अगस्त को राजनांदगांव जिले के गातापार थाना के भावे क्षेत्र में नक्सलियों के साथ मुड़भेड़ में युगल शहीद हो गए थे। आज उनकी पहली पुण्यतिथि पर जिस विद्यालय और नगर में पढ़े, वहां के बच्चों ने अपने नगर के वीर शहीद को याद कर भाव विभोर हो गए। रैली में जब तक सूरज चांद रहेगा, युगल तेरा नाम रहेगा, युगल किशोर अमर रहे के नारे लगते रहे। रैली जहां से गुजरी लोगों ने खड़े होकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

विस अध्यक्ष के स्थल चयन के बाद भी नहीं लगी प्रतिमा

स्कूल का नामकारण और शहीद की प्रतिमा लगाने के लिए स्थल का चयन हुए महीनों बीत गए। थाना के सामने प्रतिमा लगाने के लिए स्थल देखने विधानसभा अघ्यक्ष स्वयं गए थे और अफसरों को प्रतिमा स्थापित करने के निर्देश दिए थे। उसके बाद भी आज तक प्रतिमा नहीं लगी। इस संबंध में बालक प्राथमिक शाला पलारी के शिक्षक सोनसाय साहू ने बताया कि अब तो शासन की तरफ से स्कूल के नामकारण का कोई आदेश नहीं आया है। हां सिर्फ राजनांदगांव पुलिस मुख्यालय से 15 अगस्त को स्कूल में सम्मान समारोह रखने का आदेश मिला है।

पलारी. शहीद युगल किशोर को श्रद्धांजलि देने उमड़ी भीड़।

शहीद के नाम पर स्कूल के नामकरण का आदेश मिला

जब युगल शहीद हुए थे तो उनके प्राथमिक शिक्षा के स्कूल का नाम शहीद के नाम पर करने और नगर के मुख्य स्थान पर उनकी प्रतिमा लगाने की घोषणा विधानसभा अध्यक्ष गौरी शंकर अग्रवाल ने गांव पहुंच कर की थी। मगर आज युगल किशोर को शहीद हुए पूरा एक साल बबीत गया पर आज तक न तो स्कूल का नामकरण उनके नाम पर हुआ और न ही उनकी प्रतिमा लगी। इसके कारण नगर को इस बात की पीड़ा है कि शहीद का सम्मान करने में चूक हो गई। वहीं दूसरी तरफ डीईओ जीआर चंद्राकर ने बताया कि सोमवार को ही शहीद युगल किशोर वर्मा के नाम से स्कूल के नामकरण का संशोधित आदेश प्राप्त हुआ है। पहले आदेश में स्कूल का नाम गलत था, जो आज सुधर कर आया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Palari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×