Hindi News »Chhatisgarh »Palari» टेगना नाले पर सवा तीन करोड़ रुपए से बना छह सौ मीटर लंबा पुल सड़क के बिना बेकार

टेगना नाले पर सवा तीन करोड़ रुपए से बना छह सौ मीटर लंबा पुल सड़क के बिना बेकार

ब्लॉक मुख्यालय से 20 किमी दूर ग्राम भरुवाडीह-हरिनभट्ठा पहुंच मार्ग बनाने को लेकर ग्रामीण 25 सालों से शासन-प्रशासन से...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 01, 2018, 03:25 AM IST

  • टेगना नाले पर सवा तीन करोड़ रुपए से बना छह सौ मीटर लंबा पुल सड़क के बिना बेकार
    +1और स्लाइड देखें
    ब्लॉक मुख्यालय से 20 किमी दूर ग्राम भरुवाडीह-हरिनभट्ठा पहुंच मार्ग बनाने को लेकर ग्रामीण 25 सालों से शासन-प्रशासन से गुहार लगाकर थक गए पर दो किमी के पहुंच मार्ग की स्वीकृति आज तक नहीं हुई। जबकि उक्त सड़क को बजट में शामिल किया गया था। बावजूद ये पूरा नहीं हुआ।

    हालांकि दोनों गांव को जोड़ने के लिए बीच में पड़ने वाले टेगना नाले पर छह सौ मीटर लंबा पुल 3.34 करोड़ 80 हजार की लागत से बनकर तैयार है। इसे लोक निर्माण सेतु विभाग ने इस साल पूरा किया है, लेकिन इसका लाभ गांव वालों को नहीं मिल रहा है। ग्रामीण राजकुमार सोनवानी, लक्ष्मी सोनवानी, सुखदास बंजारे, गंगाराम यादव, मंगल पटेल, ईश्वर बर्मन, सरजू नारंग, दूज राम बघेल, अनिल साय, शंकर कुर्रे, रोहित, सेवा दास, गायत्री आदि ने जल्द सड़क बनाने की मांग की है।

    बताया जाता है कि भरुवाडीह से हरिनभट्ठा पहुंच मार्ग के लिए गांव वालों ने रोजगार गारंटी योजना से मिट्टी डालकर सड़क बनाई है, जो हल्की बारिश होने से दलदल और कीचड़ हो जाता है। इसके कारण उक्त सड़क पर पैदल चलना भी मुश्किल होता है। ऐसे में नाला पर बने पुल का कोई महत्व नहीं रह गया है। इस बात की भी कोई गारंटी नहीं की सड़क की स्वीकृति कब होगी? ग्रामीणों का कहना है कि जितनी लागत में पुल बना है, उससे कम लागत में ही सड़क बन जाती, मगर प्रशासन ने सड़क निर्माण की मंजूरी नहीं दी है। ग्राम हरिनभट्ठा की जनपद सदस्य, सभापति महिला बाल विकास नंदनी सोनवानी का कहना है कि हरिनभट्ठा और भरुवाडीह पहुंच मार्ग बनाने के लिए कब से गांव लोग मांग करते आ रहे हैं। जब पुल का निर्माण प्रारंभ हुआ तो लगा कि अब सड़क का भी निर्माण होगा, लेकिन दुख की बात है कि निर्माण तो दूर सड़क का स्वीकृति तक नहीं हुई है। ऐसे में इस पुल का क्या औचित्य रह जाता है। शासन जल्द से जल्द इस सड़क निर्माण की स्वीकृत करे ताकि लोगों को आने-जाने में सुविधा हो सके।

    पलारी. ब्लॉक से 20 किलोमीटर दूर हरिनभट्ठा-भरुवाडीह पहुंच मार्ग के बीच टेगना नाले पर बना पुल।

    सड़क नहीं होने से हरिनभट्ठा के लोगों को 10 किमी अधिक दूरी तय करनी पड़ रही

    हरिनभट्ठा के लोगों को गिधपुरी पुलिस चौकी और भवानीपुर-आरंग जाना हो तो वटगन और लटेरा घूम कर जाना पड़ता है, जिससे 10 किमी अधिक दूरी तय करनी पड़ती है। इसलिए भरुवाडीह-हरिनभट्ठा मार्ग बन जाए तो आने-जाने में सुविधा होगी। इसी के चलते मार्ग बनाने की मांग लगातार की जा रही है। ग्रामीणों ने रोजगार गारंटी योजना के तहत सड़क बनाई है पर बारिश में दलदल होने से पैदल चलना मुश्किल होता है।

    हरिनभट्ठा-भरुवाडीह मार्ग मिट्टी का होने से बारिश में पैदल चलना दूभर हो जाता है।

    सिर्फ पुल बनाने की मंजूरी मिली, सड़क की नहीं

    लोक निर्माण सेतु संभाग रायपुर के कार्यपालन अभियंता जीपी पवार का कहना है कि पुल निर्माण की स्वीकृत थी। इसलिए टेगना नाला पर छह सौ मीटर पुल बनाया गया, लेकिन अभी सड़क निर्माण की मंजूरी नहीं मिली है। जैसे ही उसकी स्वीकृति आएगी, वह भी बन जाएगा। दो किमी सड़क बनने से दोनों गांव आपस में जुड़ जाएंगे।

  • टेगना नाले पर सवा तीन करोड़ रुपए से बना छह सौ मीटर लंबा पुल सड़क के बिना बेकार
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Palari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×