• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • PANDARIYA
  • पंद्रह काठा सालाना से कम में काम करने पर विवाद के बाद हुआ बलवा
--Advertisement--

पंद्रह काठा सालाना से कम में काम करने पर विवाद के बाद हुआ बलवा

ब्लाॅक मुख्यालय से 4 किलोमीटर दूर स्थित गांव पाढ़ी में गुरुवार की रात ग्राम घोंठा निवासी अवध नाई द्वारा कम अनाज पर...

Dainik Bhaskar

May 26, 2018, 02:55 AM IST
पंद्रह काठा सालाना से कम में काम करने पर विवाद के बाद हुआ बलवा
ब्लाॅक मुख्यालय से 4 किलोमीटर दूर स्थित गांव पाढ़ी में गुरुवार की रात ग्राम घोंठा निवासी अवध नाई द्वारा कम अनाज पर काम करने का आरोप लगाते हुए पहले काम करने वाले नाई कमलेश और उसके साथियों ने गुरुवार को छट्ठी कार्यक्रम में विवाद शुरू कर दिया। कुछ देर बाद विवाद बढ़कर बलवा का रूप ले लिया। इस बीच दोनों पक्षों में एक घंटे तक पत्थरबाजी होती रही। जिससे किराना दुकान का शेड और चार बाइक क्षतिग्रस्त हो गया। पंडरिया पुलिस ने कमलेश श्रीवास, विनोद श्रीवास, संदीप श्रीवास, सुन्दर श्रीवास के विरुद्ध अपराध क्रमांक 72/18 धारा 294, 323, 506, 34 पंजीबद्ध कार्रवाई कर रही है। वहीं नाई समाज के लोग शुक्रवार की शाम तक तोड़-फोड़ करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग के साथ पंडरिया थाना में डटे हुए हैं।

पुलिस ने बताया कि पाढ़ी निवासी संतोष श्रीवास के घर गुरुवार को छट्ठी कार्यक्रम में कमलेश व अवध श्रीवास भी गए थे। इस दौरान कमलेश ने अवध से पूछा कि तुम किसके कहने पर आए हो। तब अवध ने निमंत्रण पर आने की बात कही। दोनों के बीच विवाद बढ़ा और गाली गलौच शुरू हो गई। इसके बाद अवध बाजार चौक की ओर चला गया। इस बीच चारों आरोपियों द्वारा अवध से मारपीट की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई गई है। अवध से मारपीट की बात को लेकर ग्रामीण उत्तेजित हो गए और 5 घंटे तक कमलेश के घर को घेर लिया था। इस दौरान ग्रामीणों ने छट्ठी में आए मेहमानों की बाइक और किराना दुकान पर बने शेड में तोड़फोड़ की। पंडरिया पुलिस व तहसीलदार करिश्मा दुबे द्वारा रात्रि 11:30 बजे कमलेश एवं उसके घरवालों व मेहमानों को सुरक्षित निकाला और ग्रामीणों को हटाया गया। गांव में शुक्रवार को भी तनाव बना रहा।

कम अनाज में छट्‌ठी कार्यक्रम करने पर हुआ विवाद: विवाद होने का मुख्य कारण नाई के कार्य को लेकर है। जानकारी के अनुसार नाई मसाज में 15 काठा सालाना अनाज से कम में काम नहीं करने का बंधन रखा गया है। इससे पूर्व कमलेश गांव में यह कार्य करता था। 15 काठा अनाज नहीं मिलने के कारण ग्रामीणों ने दूसरा नाई अवध को (घोंठा) निवासी से कार्य करा रहे थे। छट्ठी कार्यक्रम में सब इकट्ठे थे और विवाद बढ़ गया।

पंडरिया. कार्यवाही की मांग को लेकर शाम तक पानी टंकी के पास बैठे रहे।

आरोप, बंधक बनाने वाले पर कार्रवाई नहीं की गई

नाई समाज सहित आरोपी पक्ष ने पुलिस कार्रवाई से असंतुष्टि जाहिर करते हुए कहा कि पीड़ित पक्ष को आरोपी बना दिया गया है। परिवार को 5 घंटे तक बंधक बनाने वाले पर कार्यवाही नहीं की जा रही है। शुक्रवार को 11 बजे प्रांतीय कोषाध्यक्ष ध्रुव श्रीवास, जिलाध्यक्ष दिनेश सेन, जिला उपाध्यक्ष कबीर सेन व ब्लामॅक अध्यक्ष राकेश सेन द्वारा कमलनारायण उर्फ (दद्दु) व गामीण साथियों के विरूद्ध लिखित शिकायत कर 5 बाइक व किराना दुकान में तोड़-फोड़ का आरोप लगाया गया है। शिकायत के अनुसार वाहनों में तोड़-फोड़ की गई है। इसके बाद गांव में तनाव बना रहा। विशेषकर महिलाएं डरी-सहमी रहीं।

गांव में स्थिति अभी सामान्य है, मामले की जांच कर रहे


X
पंद्रह काठा सालाना से कम में काम करने पर विवाद के बाद हुआ बलवा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..