Hindi News »Chhatisgarh »PANDARIYA» तार पर पीपल की सूखी डंगाली गिरने से 15 घंटे रही बिजली गुल

तार पर पीपल की सूखी डंगाली गिरने से 15 घंटे रही बिजली गुल

पहली बारिश में ही बिजली कंपनी की पोल खुल गई और तार टूट जाने के कारण मंगलवार की रात घोघरापारा व मैनपुरा में करीब 15...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 29, 2018, 03:00 AM IST

पहली बारिश में ही बिजली कंपनी की पोल खुल गई और तार टूट जाने के कारण मंगलवार की रात घोघरापारा व मैनपुरा में करीब 15 घंटे बिजली बंद रही। जिससे करीब 4हजार लोगों को पेयजल के लिए परेशान होना पड़ा।

मंगलवार की रात 10 बजे घोघरा पारा में बिजली तार के ऊपर पीपल की सूखी डाली गिर गई थी। इसका पता विभाग को रात में ही चल गया था। किंतु बुधवार की सुबह 10.30 बजे बिजली कंपनी के कर्मचारी इसे बनाने पहुंचे। करीब 1 बजे बिजली शुरू हो पाई। लेटलतीफी के चलते लोगों को रात में जहां अंधेरे में जहरीले जंतुआें का भय व गर्मी के बीच बितानी पड़ी। वहीं सुबह होते ही पानी के लिए भटकना पड़ा। बिजली बंद होने से पूरी दिनचर्या प्रभावित रही।

नगर का विद्युत सब स्टेशन मैनपुरा में है। सब स्टेशन से महज 400 मीटर दूर ही तार टूटा था। इसे बनाने में 15 घंटे लग गए। ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली बंद होने पर कितने समय व दिनों में सुधार किया जाता होगा, इसका आंकलन किया जा सकता है। बिजली कंपनी के सुस्त रवैये के चलते दोपहर 1 बजे के बाद ही लोगों को पानी मिल पाया। गृहणी पार्वती ने बताया कि पेयजल सहित पूरी दिनचर्या प्रभावित हुई। पेयजल के लिए बुधवार दोपहर तक इंतजार करना पड़ा।

मेंटेनेंस के दौरान कंपनी की लापरवाही: बिजली कंपनी की लापरवाही के कारण लोगों को अनावश्यक परेशान होना पड़ा। पीपल की डाली बहुत पहले से सूखी हुई है। मेंटेनेंस के दौरान बिजली बंद की जाती है। यदि मेंटेनेंस के समय इस डाली को काट दिया गया होता, तो उपभोक्ताओं को परेशान होना नहीं पड़ता।

गुरुवार को भी करीब चार घंटे बंद रही बिजली: नगर में सुबह 7.30 बजे से 11 बजे तक गुरुवार को भी बिजली बंद रही। कुछ मुहल्लो में तो दोपहर 1 बजे तक बिजली चालू नहीं हो पाई थी।

हटाने के लिए नहीं मिला क्रेन

तार पर सूखी लकड़ी गिरने की जानकारी मिली थी। उसे हटाने के लिए हाईड्रा (क्रेन) नहीं मिलने के कारण देर हुई। मनीष साहू, एई, पंडरिया

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From PANDARIYA

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×