• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • PANDARIYA
  • रेलवे लाइन के समर्थन में पंडरिया पांडातराई की सभी दुकानें रहीं बंद
--Advertisement--

रेलवे लाइन के समर्थन में पंडरिया पांडातराई की सभी दुकानें रहीं बंद

भास्कर न्यूज | पंडरिया/ पांडातराई। रेलवे लाइन की मांग के साथ गुरुवार को पंडरिया व पांडातराई नगर स्वस्फूर्त बंद...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 03:40 AM IST
रेलवे लाइन के समर्थन में पंडरिया पांडातराई की सभी दुकानें रहीं बंद
भास्कर न्यूज | पंडरिया/ पांडातराई।

रेलवे लाइन की मांग के साथ गुरुवार को पंडरिया व पांडातराई नगर स्वस्फूर्त बंद रहा। यह आंदोलन अब जनआंदोलन बनने लगा है। रेलवे संघर्ष समिति के आह्वान पर व्यापारियों, दुकानदारों व आम लोगों ने नहीं न केवल अपनी प्रतिष्ठानें बंद रखीं, बल्कि वकीलों ने भी कामकाज बंद कर अपना पूरा समर्थन दिया।

रेलवे संघर्ष समिति के आह्वान पर बुलाई गई बंद का गुरुवार को व्यापक असर रहा। पंडरिया व पांडातराई में सभी छोटी बड़ी दुकानें दिनभर बंद रहीं। पांडातराई के बसस्टैंड चौक में किराना दुकान के लिए रायपुर से सामान लेकर आई ट्रक उसके चालक दिनभर परेशान रहे। गाड़ी खड़ी रही। लेकिन माल नहीं उतर पाया। वहीं पंडरिया में पान ठेला, चाय दुकान भी बंद रहीं, वहीं मेडिकल स्टोर्स भी 12 बजे तक बंद रहे। लोगों की परेशानी को देखते हुए कुछ मेडिकल स्टोर्स दोपहर बाद खुल गए। इससे पहले किसी मुद्दे पर विभिन्न राजनीतिक पार्टियों, संगठनों द्वारा बंद कराए जाने पर नगर में मिलाजुला असर रहता था। लेकिन पहली बार रेलवे लाइन के समर्थन में नगर पूरी तरह स्वस्फूर्त बंद रहा।

ज्ञात हाे कि नगर बंद कराने के लिए गुरुवार को न ही कोई नारेबाजी व शोर शराबा हुआ और न ही किसी को नगर में घूमना पड़ा। समिति ने कहा है कि बंद को मिली सफलता ने रेल लाइन के लिए बड़ा जन आंदोलन की ओर इशारा है। लोगों का आक्रोश बढ़ रहा है। इस अवसर पर बंद की सफलता के लिए समिति के गिरिजा शंकर शुक्ल, गुरुनाम सिंह छाबडा, नन्द यादव, धीरज सिंह, आशीष जैन, केशरी नंदन तिवारी, अतुल बारगाह, तामस्कार तिवारी, संजू तिवारी, नवीन जायसवाल, गोविन्द रजक, बृजेश शुक्ला ने समिति की ओर से व्यापारियों को साधुवाद दिया है।

अधिवक्ताओं ने भी बंद रखा काम: रेलवे संघर्ष समिति की मांग को अधिवक्ताओं ने भी पूरा समर्थन देते हुए गुरुवार को तहसील में कार्य बंद रखा। अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने बताया कि पंडरिया के आस-पास दो सर्वे हाे चुका है। कुछ लोगो के फायदे के लिए उसे बदला गया है। यह अन्याय 50 वर्षो से पंडरिया में रेल लाइन का इंतजार कर रही जनता नहीं सहेगी। वकीलों ने भी कामकाज बंद रख समर्थन दिया।

पंडरिया. रेलवे लाइन की मांग के समर्थन में गुरुवार को दुकानें बंद रही।

समिति ने की प्रस्तावित रूट में बदलाव की मांग

रेलवे संघर्ष समिति प्रस्तावित रेल काॅरीडोर डोंगरगढ़-कटघोरा के रूट में बदलाव की मांग कर रही है। यह रेल लाइन पंडरिया ब्लाॅक के अंतिम छोर से ब्लॉक को छूते दामापुर-पटुवा के बीच से गुजर रही है। पूरा ब्लाॅक अछूता रह जाएगा।बोड़ला ब्लॉक में भी किसी गांव से रेल लाइन नहीं गुजर रही है। समिति ने रेल लाइन को पोंडी, पांडातराई-मोहगांव, पंडरिया, कुंडा कन्तेली, उसलापुर से जोड़ने की मांग की है।

बोड़ला को शामिल नहीं करने पर की गई नारेबाजी

बाेड़ला|
डोंगरगढ़ कटघोरा प्रस्तावित रेल लाइन में बोड़ला को शामिल नहीं किए जाने के विरोध में गुरुवार को व्यापारियों ने अपनी दुकानें दिन भर बंद रखी। रेलवे संघर्ष समिति के आह्वान पर नगर बंद को सभी व्यापारियों ने पूरा समर्थन दिया। जिससे छोटी बड़ी सभी दुकानें स्वस्फूर्त बंद रहीं। दोपहर 12 बजे से संघर्ष समिति के कार्यकर्ताओं ने बाजार चाैक में पंडाल लगा कर नारेबाजी की। साथ ही शासन प्रशासन से पूर्व में प्रस्तावित रेलवे लाइन के अनुसार कार्य कराने की मांग की।

X
रेलवे लाइन के समर्थन में पंडरिया पांडातराई की सभी दुकानें रहीं बंद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..