--Advertisement--

इंदिरा चौक के बदहाल यातायात ने फिर ली बाइक सवार की जान

शहर की बदहाल यातायात व्यवस्था के चलते इंदिरा चौराहा पर शनिवार को शाम 4 बजे हाइवा की ठोकर से फिर एक बाइक सवार की मौत...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:40 AM IST
इंदिरा चौक के बदहाल यातायात ने फिर ली बाइक सवार की जान
शहर की बदहाल यातायात व्यवस्था के चलते इंदिरा चौराहा पर शनिवार को शाम 4 बजे हाइवा की ठोकर से फिर एक बाइक सवार की मौत हो गई। चौक के पास वाहनों का अवैध पार्किग और अवैध बेजाकब्जाधारियों को हटाने के लिए स्थानीय प्रशासन की कोई पहल नहीं हो पाने से नागरिकों में काफी आक्रोश देखा जा सकता है। हादसे के बाद लगभग 1 घंटा तक यहां वाहनों का जाम लगा रहा।

इंदिरा चौराहा पर हाइवा ट्रक की ठोकर से मृत बाइक सवार की पहचान बीईओ कार्यालय में पदस्थ मुख्य लिपिक नामधारी पटेल 45 वर्ष के रूप में की गई है। श्री पटेल अपनी बाइक से कार्यालय की ओर जा रहे थे। इस दौरान इंदिरा चौराहा से गुजरते वक्त पीछे से आ रही सोल्ड हाईवा के चालक ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। हाइवा की ठोकर से नामधारी के सिर पर गंभीर चोट आई। हादसा के तत्काल बाद वहां उपस्थित लोगों ने घायल लिपिक के उपचार के लिए सिविल अस्पताल भी ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। शहर में यातायात की बदहाल व्यवस्था के चलते सप्ताह भर के भीतर 2 बाइक सवारों की मौत होने से नागरिकों ने जमकर आक्रोश व्यक्त किया। इंदिरा चौराहा पर यातायात पुलिस के 3 जवानों की तैनाती के बाद भी यहां पर बेतरतीबी से खड़े वाहनों के चलते उन्हें मूकदर्शक बन कर खड़े रहना पड़ता है।





शहर में इंदिरा चौराहा पर हर समय जाम लगने से तीनों मुख्य मार्ग पर वाहनों की आवाजाही पर काफी असर पड़ रहा है। इसके बाद भी इस क्षेत्र में वाहनों का अवैध पार्किंग तथा दुकानदारों का बेजा कब्जा को हटाने की पहल नहीं हो रही है।

तहसीलदार और पुलिस बल ने आवागमन को बनाया सुगम

इंदिरा चौराहा पर दुर्घटनाकारित ट्रक व सड़क पर एकत्रित भीड़।

कलेक्टर-एसपी की बैठक भी रही बेनतीजा

शहर में बदहाल यातायात की समस्या को गंभीरता से लेते हुए बीते सप्ताह कलेक्टर डा.प्रियंका शुक्ला और एसपी प्रशांत सिंह ठाकुर ने तहसील कार्यालय में स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक ली थी। इस दौरान नगर निकाय, राजस्व, पुलिस, लोक निर्माण और अन्य विभाग के अधिकारियों को यातायात की बदहाल व्यवस्था को सुधारे जाने के कड़े निर्देश दिए थे। इसके बाद भी नगर पंचायत परिषद के अधिकारी केवल नोटिस देने की औपचारिकता और बैठकों से ही खानापूर्ति करते रहने से उच्च अधिकारियों की बैठक भी बेनतीजा साबित हो गई। बैठक लेने से पहले कलेक्टर और एसपी ने यहां के चौक चौराहों में वाहनों का अवैध पार्किंग तथा तीनों मुख्य सड़कों पर दुकानदारों का मुख्य सड़क तक व्यावसायिक सामान बिखरे हुए देखा था। शहर में यातायात की बदहाली का औचक निरीक्षण के बाद कलेक्टर ने स्थानीय प्रशासन को इस दिशा में त्वरित कार्रवाई करने के कड़े निर्देश दिए थे।

अवैध पार्किंग हटाने के बजाय सरंक्षण

शहर के सामाजिक कार्यकर्त्ता संजय तिवारी का आरोप है कि नगर पंचायत यहां मुख्य सड़क पर वाहनों के अवैध पार्किंग हटाने के बजाए बेजाकब्जा करने वालों को ही सरंक्षण दे रही है। इसी वजह से तीनों मुख्य सड़कों पर बेजाकब्जा बढ़ जाने के बाद सड़कें संकरी हो गई हैं। उन्होंने कहा कि नगर पंचायत ने वाहनों का पार्किंग बनाने की दिशा में कोई पहल नहीं करने से यहां पैदल चल पाना भी दूभर हो गया है।

नगर पंचायत की लचर व्यवस्था

2 दिन पहले ही स्थानीय प्रशासन ने शहर में बदहाल यातायात सुधारे जाने के लिए नागरिक और व्यापारियों की बैठक ली थी। बैठक में इंदिरा चौराहा के आस पास नो पार्किंग जोन बनाने का निर्णय के बाद भी नगर पंचायत परिषद ने कोई पहल नहीं की। नगर पंचायत के सीएमओ की लापरवाही को देख कर यहां के नागरिकों ने उनके विरुद्ध कार्रवाई करने की मांग की है। नागरिकों का कहना है कि बीते सप्ताह बाइक सवार की मौत से सबक ले लिया जाता तो इस हादसा को टाला जा सकता था। यहां बेजाकब्जाधारियों को 10 दिन का समय दिए जाने की बाद को भी केवल ध्यान हटाने का निर्णय बताया जा रहा है।

X
इंदिरा चौक के बदहाल यातायात ने फिर ली बाइक सवार की जान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..