• Home
  • Chhattisgarh News
  • Pathalgaon News
  • भुगतान को लेकर एनएच निर्माण एजेंसी के कार्यालय को घेरा, विरोध में नारे भी लगाए
--Advertisement--

भुगतान को लेकर एनएच निर्माण एजेंसी के कार्यालय को घेरा, विरोध में नारे भी लगाए

कटनी गुमला एनएच सड़क का निर्माण करने वाली चेन्नई की निर्माण एजेंसी के विरोध में अपना बकाया मजदूरी भुगतान लेने के...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:15 AM IST
कटनी गुमला एनएच सड़क का निर्माण करने वाली चेन्नई की निर्माण एजेंसी के विरोध में अपना बकाया मजदूरी भुगतान लेने के लिए मजदूरों के बाद अब मशीनरी वाहन के मालिकों ने भी मोर्चा खोल दिया है।

चेन्नई की इस सड़क निर्माण एजेंसी का पत्थलगांव स्थित कार्यालय में इसके प्रोजेक्ट मैनेजर एस वासु को अनेक वाहन मालिक तथा अन्य लोगों ने घंटों तक उसके कार्यालय में घेर कर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रोजेक्ट मैनेजर एस वासु ने लोगों से शांत रहने का खूब अनुरोध किया लेकिन किसी ने भी उसकी फरियाद नहीं सुनी। सड़क निर्माण एजेंसी के लिए विद्युत पोल का स्थानांतरण और सड़क निर्माण का काम में जेसीबी, ट्रैक्टर आदि वाहन प्रदाय करने वाले वाहन मालिकों का कहना था कि उन्हें लगभग 30 लाख रुपए का भुगतान के लिए पांच महीने से चक्कर लगा रहे हैं। इसके पहले कामगार मजदूरों ने पुलिस थाना पहुंच कर इस निर्माण एजेंसी के विरोध में जमकर प्रदर्शन किया था। इस कम्पनी के विभिन्न पदाधिकारियों का झूठा आश्वासन के परेशान होकर ही इन लोगों ने उसी के कार्यालय में पहुंच कर घंटों तक विरोध प्रदर्शन किया। वाहन मालिकों का कहना था इस बार इस कं्पनी ने होली से पहले भुगतान करने की बात कही थी, लेकिन इस बार भी भुगतान का वायदा पूरा नहीं किया है।

निर्माण एजेंसी के कार्यालय के सामने नारेबाजी करते पीड़ित।

पुलिस से नहीं मांगी मदद. थाना प्रभारी नरेन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि इस मामले में पीड़ित पक्ष से अभी तक पुलिस से मदद नहीं मांगी गई है। उन्होंने कहा कि इस कम्पनी व्दारा सड़क निर्माण में काम करने वाले मजदूरों का भी भुगतान नहीं करने से सैकड़ों कामगार मजदूरों में आक्रोश बना हुआ है।

बातचीत से निकलेगा हल

कटनी गुमला एनएच सड़क पर काम करने वाली निर्माण एजेंसी के प्रोजेक्ट मैनेजर एस वासु ने बताया कि मशीनरी और अन्य वाहन मालिकों का भुगतान करने में थोड़ा विलंब हुआ है। इन वाहन मालिक तथा अन्य कामगार मजदूरों से भुगतान के लिए कुछ समय मांगा गया है। उन्होंने कहा कि भुगतान में विलंब का इस जटिल मामला में आपसी बातचीत से ही हल निकालने का प्रयास किया जा रहा है। इस वजह लेनदारों से अभी बातचीत का प्रयास किया जा रहा है।