• Home
  • Chhattisgarh News
  • Pithora News
  • कॉलेज की शिक्षा के बाद शिक्षक बनने के लिए होती है पढ़ाई: पुरंदर मिश्रा
--Advertisement--

कॉलेज की शिक्षा के बाद शिक्षक बनने के लिए होती है पढ़ाई: पुरंदर मिश्रा

ग्राम जंघोरा(पिथौरा) में संचालित रामदर्शन इंस्टिट्यूट ऑफ एजुकेशन में रंगारंग कार्यक्रमों के साथ वार्षिकोत्सव...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:15 AM IST
ग्राम जंघोरा(पिथौरा) में संचालित रामदर्शन इंस्टिट्यूट ऑफ एजुकेशन में रंगारंग कार्यक्रमों के साथ वार्षिकोत्सव सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्रेडा अध्यक्ष पुरंदर मिश्रा, अध्यक्षता भाजपा के प्रदेश मंत्री शंकर अग्रवाल, विशेष अतिथि के रूप में भाजपा के जिला अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह गोल्डी एवं जिला मंत्री प्रेमशंकर पटेल उपस्थित थे।

मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित क्रेडा अध्यक्ष पुरंदर मिश्रा ने उपस्थित जन समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि यह कॉलेज नहीं बल्कि कॉलेज की पढ़ाई करने के बाद शिक्षा के क्षेत्र में अपना भविष्य तलाशने वाले विद्यार्थियों के लिए यह एक अलग संस्थान है।

विद्यार्थियों को लाभ मिल रहा है: अग्रवाल

भाजपा के प्रदेश मंत्री शंकर अग्रवाल ने कहा कि इस संस्थान के प्रारंभ होने से क्षेत्र के होनहार विद्यार्थियों को निःसंदेह लाभ मिल रहा है। इसके पूर्व विद्यार्थियों को दूर जाने के लिए मजबूर होना पड़ता था। इस वर्ष करीब सौ विद्यार्थियों ने लाभ लिया है आगामी वर्षों में दो सौ विद्यार्थी इसका लाभ प्राप्त करेंगे। कार्यक्रम के प्रारंभ में विद्यार्थियों ने स्वागत गीत प्रस्तुत कर अतिथियों का अभिवादन किया ।तत्पश्चात प्राचार्य जी आर निषाद ने स्वागत भाषण के साथ संस्थान की गतिविधियों की जानकारी दी। तत्पश्चात शिक्षकों एवं विद्यार्थियों जिसमे लोमेश सोनी, अनिता साहू, लकेश्वरी यादव, सुनीता साहू, पुष्पांजलि पंडा, वंदना साहू, पुरन पटेल, सरोज निषाद, डमरूधर पटेल, मुरलीधर पटेल, मुकुंद माधव, किरण पटेल, यामिनी पंकज, लीलेश्वरी, चंद्रकला, जगदम्बा निषाद, दिब्यारानी, प्रियंका नायक आदि ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति पर आधारित छत्तीसगढ़ दर्शन,संस्कृति, शिक्षा के महत्व,कृषि, कुरीति, नशाबंदी आदि विषयों के साथ रंगारंग कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई। इस दौरान उपस्थित अतिथियों एवं दर्शकों ने तालियों के साथ उत्साह वर्धन किया। पूरे कार्यक्रम के दौरान संस्था के अध्यक्ष कविता अग्रवाल कार्यक्रम की सफलता हेतु डटी रही एवं मार्गदर्शन करती रहीं। प्रीतराम सूर्ये, रजनी डड़सेना, किरण अग्रवाल, क्षमा गोयल,स्वनिल तिवारी आदि भी उपस्थित थे।