पिथोरा

--Advertisement--

बुढ़ान शाह ने अंग्रेजों के खिलाफ की थी आवाज बुलंद:विकास

ग्राम अरंड में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. बुढ़ान शाह की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अनुसूचित...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:10 AM IST
बुढ़ान शाह ने अंग्रेजों के खिलाफ की थी आवाज बुलंद:विकास
ग्राम अरंड में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. बुढ़ान शाह की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अनुसूचित जनजाति आयोग के उपाध्यक्ष विकास मरकाम थे। अध्यक्षता क्षेत्रीय समाज अध्यक्ष दुलार सिंह ध्रुव ने की, विशेष अतिथि के रूप में खल्लारी विधायक चुन्नीलाल साहू, खिलावन ध्रुव, जिला पंचायत सदस्य कुमारी बाई दीवान, रैन सिंग दीवान, मनराखन ठाकुर, राधेश्याम अग्रवाल उपस्थित थे।

अतिथियों ने गांव पहुंचकर सेनानी बुढ़ान शाह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस दौरान मुख्य अतिथि विकास मरकाम ने कहा देश की आजादी के लिए दिए गए स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बुढ़ान शाह के योगदान को हमें और प्रसारित करना है, ताकि हमारी भावी पीढ़ी भी उन्हें जान सके। धमधा में 52 गढ़ के राजा थे और उन्होंने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ आवाज बुलंद की थी। अंग्रेजों की यातना से त्रस्त होकर अरंड क्षेत्र में आकर उन्होंने आजादी की अलख जगाई। जंगल सत्याग्रह में भाग लिया। ऐसे महापुरुषों के योगदान को स्मरण करना ही पर्याप्त नहीं होगा बल्कि उनकी जयंती को पूरे छत्तीसगढ़ में मनाया जाना चाहिए।

याद

अरंड में मनाई गई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बुढ़ान शाह की जयंती, कार्यक्रम में पहुंचे अजजा आयोग उपाध्यक्ष

पिथौरा। अरंड में स्व. बुढ़ान शाह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पूजन करते अतिथि।

बुढ़ान शाह की याद में रखा जाए सड़क या भवन का नाम

खल्लारी विधायक चुन्नीलाल साहू ने कहा कि सेनानियों को सम्मान दिलाना हमारा धर्म है। सेनानियों के सोच को हमें मूर्त रूप देना होगा। उनके सपनों का भारत का निर्माण का संकल्प लेकर हमें आगे बढ़ना होगा। स्व. बुढ़ान शाह की ओडिशा से लेकर धमधा क्षेत्र में भागीदारी अविस्मरणीय है, उन्हें आज भी यथोचित सम्मान नहीं मिल पाया है। उनके नाम से राजधानी में सड़क व भवन या महाविद्यालय का नामकरण होना चाहिए, जिससे पूरे छत्तीसगढ़ के लोग उन्हें जान सके औऱ उनके योगदान को सम्मान दे सकें। सभा को दुलार सिंग ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर योगेश ठाकुर, पुसाउ राम ध्रुव, सरपंच कार्तिक राम पटेल, कृष्णा ध्रुव, श्याम पटेल, जामसिंह दीवान, शोभाराम ध्रुव, रन साय ठाकुर, मदन ध्रुव सहित अन्य उपस्थित थे।

X
बुढ़ान शाह ने अंग्रेजों के खिलाफ की थी आवाज बुलंद:विकास
Click to listen..