Hindi News »Chhatisgarh »Raigarh» 50 हजार तक कमाने वाले किसान 3 लाख तक कमा रहे

50 हजार तक कमाने वाले किसान 3 लाख तक कमा रहे

क्या कहते हैं विशेषज्ञ कृषि कॉलेज के कृषि विशेषज्ञ डॉक्टर एके सिंह ने भिंडी की अगेती फसल व डबल क्रॉप वाली...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:55 AM IST

क्या कहते हैं विशेषज्ञ

कृषि कॉलेज के कृषि विशेषज्ञ डॉक्टर एके सिंह ने भिंडी की अगेती फसल व डबल क्रॉप वाली किस्मों के बारे में जानकारी देते हुए कहा, कृषि वैज्ञानिकों द्वारा भिंडी की कुछ ऐसी किस्में इजाद की गई हैं। जो ग्रीष्मकालीन और वर्षाकालीन दोनों ऋतुओं में अधिक उपज देती हैं। जिसमें काशी शक्ति, काशी विभूति, काशी प्रगति ऐसी किस्में हैं। जिनकी अगेती बुवाई कर फसल तोड़ने के बाद इनके पौधों की कलम करके इनसे बरसात के मौसम में दोबारा फसल प्राप्त कर सकते हैं।

किसान अपने परिवार के साथ भिंडी तोड़ते हुए।

ये है बेहतर तरीका

उदयनाथ साव कहते हैं कि भिंडी की बुवाई का समय तो फरवरी से शुरू होता है पर वे बाजार से उस प्रजाति का बीज खरीदते हैं जो जल्दी तैयार हो और गर्मी-बरसात दोनों ही मौसमों में अच्छी उपज दें। जनवरी के प्रथम सप्ताह में ही में अपने खेत में भिंडी के बीज अंकुरित करके बुवाई की जाती है। खाद-पानी की व्यवस्था आम भिंडी की फसलों की तरह ही करनी है। जल्दी बुआई करने से फसल मार्च में तैयार हो जाती है। उसे तोड़ने के बाद जून के महीने में भिंडी के पौधों को जड़ से चार-पांच इंच छोड़कर उसकी कलम की जाती है। कुछ दिनों के बाद बरसात शुरू हो जाती है और और कलम किए गए पौधों में फिर से कल्ले निकल आते हैं। दोबारा निकले हुए कल्लो में 40 से 45 दिनों में ही फल उगने लगते हैं। इस तरह आप एक बार बीज की बुआई कर दोबारा फसल काट सकते हैं। इससे आपकी खाद-पानी बीज की लागत आधे से कम होगी और मुनाफा चार गुना हो सकता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Raigarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×