• Home
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • मनरेगा एपीओ का प्रभार छीनने के बाद अब सेवा वृद्धि पर लटकी तलवार
--Advertisement--

मनरेगा एपीओ का प्रभार छीनने के बाद अब सेवा वृद्धि पर लटकी तलवार

रायगढ़ | जिपं के मनरेगा शाखा में लगातार मिल रही लेनदेन की शिकायत के बाद कलेक्टर शम्मी आबिदी ने एपीओ एवं एकाउंटेंट से...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:00 AM IST
रायगढ़ | जिपं के मनरेगा शाखा में लगातार मिल रही लेनदेन की शिकायत के बाद कलेक्टर शम्मी आबिदी ने एपीओ एवं एकाउंटेंट से उनका काम छीन लिया है। नए आदेश के अनुसार अब जिपं के एडिशनल सीईओ बीबी तिग्गा को मनरेगा के एपीओ का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। वहीं मनरेगा में एकाउंटेंट का काम भी देख रहे स्टाफ की जगह दूसरे कर्मचारी को इसका जिम्मा दिया गया है। मनरेगा एपीओ कविता पटेल का प्रभार छीनने के बाद अब सेवा वृद्धि पर भी तलवार लटक रही है। दरअसल, पिछले साल एक के बाद एक लगातार तीन शिकायतें हुई थी। जिसमें ग्राम पंचायतों के सरपंचों के अलावा रोजगार सचिवों ने सेवा वृद्धि के नाम पर एपीओ पर रुपए लेने का आरोप लगाकर शिकायत तात्कालीन कलेक्टर से मनरेगा आयुक्त रायपुर से की थी। इस पर जांच तो हुई थी, लेकिन जांच करने वाले अधिकारियों की कार्यशैली पर सवाल खड़े हुए थे। हालांकि बाद में एपीओ को जांच के बाद क्लीन चिट दे दी गई थी। वहीं बीते माह बेयरफुट तकनीशियन की भर्ती में लेनदेन की शिकायत आई थी और वर्तमान में जिले में हुई तकनीकी सहायकों की भर्ती में भी यही आरोप लगे थे। मनचाही जगह में पोस्टिंग के नाम पर 30 से 50 हजार रुपए तक लेने का आरोप लगाकर इसकी शिकायत सीधे कलेक्टर से हुई थी। लगातार मिल रही शिकायतों से कलेक्टर नाराज थीं और उन्होंने जिपं द्वारा जारी पोस्टिंग आर्डर निरस्त कर दोबारा से आदेश जारी करवाए थे। जिपं के लेखाधिकारी रामनारायण राम को अतिरिक्त रूप से मनरेगा के एकाउंटेंट की भी जिम्मेदारी दी गई है।