--Advertisement--

12वें दिन बेरोजगारी का जलाया पुतला

रायगढ़| हड़ताल के 12वें दिन भी एनटीपीसी लारा के भू विस्थापितों बेरोजगार ग्रामीण पूरे आक्रोश के साथ डटे रहे, धीरे-धीरे...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 03:15 AM IST
रायगढ़| हड़ताल के 12वें दिन भी एनटीपीसी लारा के भू विस्थापितों बेरोजगार ग्रामीण पूरे आक्रोश के साथ डटे रहे, धीरे-धीरे ग्रामीणों की संख्या बढ़ रही है जिससे बेरोजगार युवाओं में जोश भर रहा है।

बार-बार प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा आंदोलन खत्म करने के लिए समझाइश दी जा रही है लेकिन भू विस्थापित ग्रामीण स्थाई नौकरी मिलने तक आंदोलन नहीं छोड़ने की बात कह रहे हैं। धरना हनुमान जी की आराधना के साथ प्रारंभ किया गया । आंदोलनकारियों ने संकल्प लिया गया कि हम अपना हक लेकर रहेंगे। शनिवार को आंदोलन स्थल पर पुसौर जनपद सदस्य नवापारा (अ) के श्रीमती चंपा बाई साव ने सभी लोगों का मनोबल बढ़ाया और एनटीपीसी लारा को चेतावनी दी कि जल्द ही हमारी मांगें पूरी नहीं होती है तो हम महिलाएं भारी संख्या में आकर उग्र आंदोलन करेंगे। गौरतलब है कि एनटीपीसी लारा प्रोजेक्ट देश का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है जिसमें किसी भी स्थानीय भू विस्थापित युवाओं को स्थाई नौकरी नहीं दी है।

वहीं बिलासपुर एनटीपीसी सीपत परियोजना में लगभग 692 पदों पर नौकरी पदी गई है। हाल ही में एनटीपीसी परियोजना में आईटीआई के लगभग 69 पदों की भर्ती निकली पर नियुक्ति के लिए नियम बना दिया गया है। जिसमें न्यायालय बिलासपुर हाईकोर्ट ने भी अनुचित मानते हुए 20 पोस्ट को स्थगित कर दिया है। प्रशासन और एनटीपीसी प्रबंधन के रवैये से दुखी होते हुए आज बड़ी संख्या में भू विस्थापितों बेरोजगार युवाओं ने एनटीपीसी लारा में स्थाई नौकरी की मांग को लेकर बृहद आंदोलन का बिगुल बजाया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..