• Home
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • एमसीआई अस्पताल पहुंची तो खाने की बढ़ी क्वालिटी
--Advertisement--

एमसीआई अस्पताल पहुंची तो खाने की बढ़ी क्वालिटी

मेकाहारा में बुधवार को एमबीबीएस फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स की परीक्षा लेने के लिए एमसीआई दिल्ली से अफसर पहुंचे।...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:20 AM IST
मेकाहारा में बुधवार को एमबीबीएस फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स की परीक्षा लेने के लिए एमसीआई दिल्ली से अफसर पहुंचे। उन्होंने 50 स्टूडेंट्स की परीक्षा अस्पताल के एनआरसी केंद्र में ली। उनके यहां पहुंचने से अस्पताल का नजारा बदल गया। बेहतर साफ सफाई के साथ मरीजों को गुणवत्ता युक्त भोजन भी दिया गया। आमतौर पर मेकाहारा के मरीजों को पतली दाल, चावल और एक सब्जी के साथ अंडा दिया जाता है।

मंगलवार को मरीजों की थाली में स्पेशल दाल के साथ राजमा, फूलगोभी आलू की सब्जी, अंडा, केला और संतरा दिया गया। हर रोज 11 बजे से भोजन परोसा जाता है, लेकिन मंगलवार को दोपहर 1 बजे से खाना दिया गया। कर्मचारियों ने बताया कि आज स्पेशल खाना बन रहा था, इसलिए देर हो गई। स्पेशल खाना बंटने का कारण अफसरों का दौरा है। महिला वार्ड में भर्ती सुकांति सतनामी ने कहा कि वह पिछले गुरूवार से भर्ती है। हर रोज पतली दाल और आलू बैगन की सब्जी देते थे। आज स्पेशल खाना दी गई है।

एमबीबीएस के फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स की परीक्षा कराने आई है दिल्ली से टीम, राजमे के साथ मरीजों को मिला केला

मेकाहारा में भोजन लेते मरीज।

दिल्ली की टीम ने भावी डॉक्टरों से पूछे ये सवाल

दिल्ली के टीम ने एक-एक परीक्षार्थियों को विभिन्न वार्ड में भर्ती मरीजों के समीप भेज उनका आकलन किया। कौन सा मरीज किस बीमारी से पीड़ित हैं? लक्षण क्या हैं? इलाज क्या होगा? उस बीमारी की पहचान होने पर कौन सी मेडिसिन दी जाएगी जैसे सवाल किए। वीक्षकों ने परीक्षा दे रहे छात्र-छात्राओं से यह भी पूछा कि अस्थमा एवं सीओपीडी में क्या अंतर है? टीबी का ट्रीटमेंट क्या है? सालबुटामोल क्या है? परीक्षा की खास बात यह रही कि हर एक परीक्षार्थी को एक मरीजों से होकर गुजरना पड़ा। उनसे संबंधित बीमारी और उससे जुड़े इलाज के सवालों एवं जवाबों से गुजरना पड़ा।