• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • इस गांव में बांस की पिचकारी से होली खेलते हैं बच्चे
--Advertisement--

इस गांव में बांस की पिचकारी से होली खेलते हैं बच्चे

Raigarh News - रायगढ़ | पुसौर तहसील के नेतनागर गांव में 60 बंसोड़ परिवार हैं। इनका मुख्य पेशा बांस की टोकरी, सूपा, टुकना बनाना है। होली...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:20 AM IST
इस गांव में बांस की पिचकारी से होली खेलते हैं बच्चे
रायगढ़ | पुसौर तहसील के नेतनागर गांव में 60 बंसोड़ परिवार हैं। इनका मुख्य पेशा बांस की टोकरी, सूपा, टुकना बनाना है। होली से पहले बंसोड़ परिवार के सदस्य टोकरी, सूपा बनाना छोड़कर बांस की पिचकारी बनाने के काम में लग जाते हैं। दरअसल उनके बच्चे बाजार से पिचकारी ना लेकर बांस से बनी पिचकारी का इस्तेमाल करते हैं। गांव में ये परंपरा लगभग 70 साल से चल रही है। बंसोड़ परिवार ओडिशा से आकर यहां बसे हैं। जब से यहां आए हैं तभी से यही परंपरा चल रही है। वेणुधर बंसोड़ ने कहा कि पहले होली में उन लोगों द्वारा बनाई गई पिचकारी खूब बिकती थी। बाजार में प्लास्टिक और लोहे से बनी पिचकारी आने के बाद उनके द्वारा बनाए पिचकारी की मांग घट गई।

X
इस गांव में बांस की पिचकारी से होली खेलते हैं बच्चे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..