• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • करोड़ों खर्च फिर भी इलाज लायक नहीं है प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, ज्यादातर मामलों में रेफर होते हैं मरीज
--Advertisement--

करोड़ों खर्च फिर भी इलाज लायक नहीं है प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, ज्यादातर मामलों में रेफर होते हैं मरीज

Raigarh News - जिले के प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाए गए हैं, डाक्टर के साथ स्टाफ के पद भी हैं लेकिन ये केंद्र...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:20 AM IST
करोड़ों खर्च फिर भी इलाज लायक नहीं है प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, ज्यादातर मामलों में रेफर होते हैं मरीज
जिले के प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाए गए हैं, डाक्टर के साथ स्टाफ के पद भी हैं लेकिन ये केंद्र मरीजों को सिर्फ रेफर करने का काम करते हैं। हर रोज़ औसत 8 केस रेफर किए जाते हैं।

विभाग के अफसर इसके लिए डाक्टरों की कमी को वजह बता रहे हैं। उनका कहना है पूरे प्रदेश के स्वास्थ्य केंद्रों में डाक्टरों की कमी है जिसके कारण मरीजों को रेफर किया जाता है। जुलाई 2017 से जनवरी 2018 तक 1726 केस रेफर किए गए हैं। इसमें से अधिकांश केस सीएचसी यानि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से थे। ऐसा नहीं कि सीएचसी में दवाइयां, सामान या फिर अन्य सामग्रियों की कमी हो। मेडिकल किट पर्याप्त मात्रा में हैं। फिर भी स्वास्थ्य कर्मियों के गैर जिम्मेदाराना रवैये व काम के प्रति लापरवाही के चलते रेफर के आंकड़ों में बढ़ोतरी हुई है। हर साल जिले में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए करोड़ों रुपए से अधिक की राशि खर्च की जाती है। प्राथमिक इलाज की सबसे अधिक आवश्यकता इमरजेंसी केसेज में होती है जैसे रोड एक्सीडेंट। सड़क दुर्घटना में घायल हुए व्यक्ति को सबसे पहले एबुलेंस के जरिए नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचाया जाता है ताकि उसे प्रारंभिक इलाज की सुविधा मिल सके।

विडंबना

इमरजेंसी केसेस में समय पर इलाज नहीं मिलने से घायल मरीज रास्ते में ही दम तोड़ देते हैं

फैक्ट फाइल

9 सीएचसी की संख्या

52 पीएचसी की संख्या

338 उप स्वास्थ्य केंद्र

सीएचसी इतने रेफर किए









ये हैं पीएचसी केंद्र

सरिया, डोंगरीपाली, लेंध्रा, बोंदा, हिर्री, गोड़म, भेड़वन, कोसीर, कनकबीरा, बड़े भंडार, पुटकापुरी, मिडमिडा, छपोरा, कोडातराई, बिंजकोट, जतरी, लोईंग, कोड़ातराई, नंदेली, डूमरपाली, नवरंगपुर, भगोरा, बनोरा, संबलपुरी, जामगांव, बंगुरसियां, किरोड़ीमलनगर, सरवानी, तुरेकेला, जोबी, बर्रा, बिंजकोट, सोंडका, गोरपार, उरबा, लिबरा, सराईपाली, टेण्डानावापारा, कुडुमकेला, कया, बहिरकेला, राजपुर, लारीपानी, लमडाड़, मुकडेगा, कुमरता, चाल्हा, हाटी, छाल, खम्हार, सिसरिंगा, बायसी, गनपतपुर।


X
करोड़ों खर्च फिर भी इलाज लायक नहीं है प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, ज्यादातर मामलों में रेफर होते हैं मरीज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..