• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Raigad
  • रेलवे ने नहीं बनाई स्टेशन से फाटक तक सड़क अब पीडब्ल्यूडी विभाग कराएगा उसकी मरम्मत
--Advertisement--

रेलवे ने नहीं बनाई स्टेशन से फाटक तक सड़क अब पीडब्ल्यूडी विभाग कराएगा उसकी मरम्मत

भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा नैला रेलवे स्टेशन से लेकर बलौदा रेलवे फाटक तक जाने वाली सड़क की स्थिति रेलवे की...

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2018, 02:40 AM IST
रेलवे ने नहीं बनाई स्टेशन से फाटक तक सड़क अब पीडब्ल्यूडी विभाग कराएगा उसकी मरम्मत
भास्कर न्यूज | जांजगीर-चांपा

नैला रेलवे स्टेशन से लेकर बलौदा रेलवे फाटक तक जाने वाली सड़क की स्थिति रेलवे की लापरवाही के कारण फिर बिगड़ गई है। पिछले साल सितंबर में इस सड़क की हालत से रेलवे को अवगत कराने के लिए नगर के युवाओं ने गड्‌ढों पर फूल व पौधे लगाकर विरोध किया तो रेलवे ने इसकी मरम्मत कराई थी, इसके बाद भूल गया। अब वैसी ही स्थिति इस सड़क की फिर हो रही है। रेलवे द्वारा ध्यान नहीं देने पर कलेक्टर ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारी को इस सड़क की मरम्मत कराने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर नीरज कुमार बनसोड़ की अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने एवं अनुशासित यातायात व्यवस्था के लिए चर्चा की गई। कलेक्टर ने कहा कि यातायात की निगरानी में आधुनिक तकनीक का प्रयोग किया जाएगा। इसके लिए व्यस्ततम चौक चौराहों में सीसी कैमरा लगाया जाएगा। कलेक्टर ने सीसी सर्विलेंस कैमरा के लिए 25 लाख की स्वीकृति दी है। उन्होंने कहा कि कैमरा लग जाने से यातायात की निगरानी में आसानी होगी तथा अज्ञात वाहनों के दुर्घटना के प्रकरणों की विवचेना में मदद मिलेगी।



बैठक में जिला पंचायत सीईओ अजीत वसंत, अपर कलेक्टर डीके सिंह, एडीशनल एसपी पंकज चंद्रा, संयुक्त कलेक्टर एसएस पैकरा, सभी एसडीएम उपस्थित थे।

27 जून को प्रकाशित खबर

तिलई के पास फिर बनाया जाएगा स्पीड ब्रेकर

डेंजर जोन तिलई में बनाए गए स्पीड ब्रेकर को मुख्यमंत्री के रथ यात्रा के दौरान तोड़ दिया गया था। चूंकि यह अंधा मोड़ है और यहां पर एक्सीडेंट की संभावना ही बनी रहती है इसलिए इस जगह पर फिर से स्पीड ब्रेकर बनाने के लिए भी संबंधित विभाग के अधिकारियों को कहा गया है।

आवारा मवेशियों के गले में बांधेंगे फ्लोरोसेंट पट्‌टी

श्री बनसोड़ ने कहा कि आवारा पशुओं के सड़क पर बैठ जाने के कारण दुर्घटना की संभावना बनी रहती है। आवारा पशुओं के गले में फ्लोरोसेंट पट्टी बांधी जाएगी। ताकि दूर से आने वाले वाहन के चालकों को मवेशी आसानी से दिख जाये। आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए निर्देशित किया गया है।

दुर्घटना वाले मोड़ पर लगाए रिफ्लेक्टर

पुलिस अधीक्षक श्रीमती नीतू कमल ने दुर्घटना संभावित सड़क मोड़ पर रोड किनारे यातायात संकेत के बोर्ड एवं रिफ्लेक्टर लगाने के लिए लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया है। उन्होंने नशे की हालत में वाहन चलाने वाले ड्राईवरों के खिलाफ मुहिम चलाने के लिए सवारी वाहन संचालक संगठन के पदाधिकारियों को सलाह दी।

X
रेलवे ने नहीं बनाई स्टेशन से फाटक तक सड़क अब पीडब्ल्यूडी विभाग कराएगा उसकी मरम्मत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..